यूपी के उन्नाव में पत्रकार आत्महत्या मामले में महिला दारोगा अरेस्ट, भेजी गई जेल

उन्नाव, । जनपद उन्नाव पत्रकार सूरज आत्महत्या मामले में आरोपी महिला दारोगा को गिरफ्तार कर लिया गया है। महिला दारोगा पर पत्रकार को आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया गया था। उन्नाव सदर की कोतवाली पुलिस ने दारोगा को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से उसे अस्थाई जेल भेज दिया गया है।

गौरतलब है कि एबीनगर निवासी पत्रकार सूरज पांडेय का शव 12 नवंबर को सदर कोतवाली क्षेत्र के शराब मिल के सामने लखनऊ.कानपुर रेलवे ट्रैक पर मिला था। पत्रकार की महिला दरोगा के साथ मोबाइल फोन पर हुई बात और व्हाट्सएप चेटिंग समेत अन्य साक्ष्यों के आधार पर पुलिस ने पत्रकार को आत्महत्या के लिए उकसाने की धारा में मामला तरमीम कर लिया था।

सूरज की मां लक्ष्मी पांडेय ने महिला दारोगा सुनीता चौरसिया व सूरज के बीच नजदीकी का खुलासा किया था। महिला दारोगा समेत महिला थाने में तैनात सिपाही अमर सिंह पर हत्या और हत्या की साजिश रचने सहित जान से मारने की व धमकी की रिपोर्ट में मामला दर्ज करवाया गया था। जिसके बाद एसपी ने जांच के लिए एसआईटी का गठन किया था।

एसआईटी पहले ही अपनी जांच में इसे आत्महत्या मानकर चल रही थी। 18 नवंबर को लखनऊ की एफएसएल टीम के संयुक्त निदेशक जी खान ने तीन सदस्यीय टीम के साथ रेलवे ट्रैक का निरीक्षण किया था। एसआईटी ने बीते 21 नवंबर को अपनी रिपोर्ट उन्नाव पुलिस को सौंपी थी।

एसआईटी की जांच रिपोर्ट में पत्रकार द्वारा आत्महत्या करने की बात कही गई थी। इसी सिलसिले में मंगलवार 24 नवंबर की देर रात महिला दारोगा सुनीता चौरसिया को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एसपी उन्नाव आनंद कुलकर्णी ने बताया कि सिपाही अमर सिंह की तलाश की जा रही है, जल्दी ही उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Back to top button
E-Paper