सबसे तेज 400 टेस्ट विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज बने अश्विन, इस बल्लेबाज को आउट कर बनाया खास रेकॉर्ड

अहमदाबाद
भारतीय दिग्गज स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इंग्लेंड के खिलाफ जारी तीसरे टेस्ट की दूसरी पारी में इतिहास रच दिया। वह सबसे तेज 400 विकेट तक पहुंचने वाले दुनिया के दूसरे गेंदबाज हैं, जबकि इस आकंड़े तक पहुंचने वाले चौथे भारतीय हैं। अश्विन ने 77 मैचों में 400 विकेट का आंकड़ा छुआ, जबकि श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन ने महज 72 मैचों में यहां तक का सफर पूरा किया था।इस मैच से पहले अश्विन के नाम 76 टेस्ट में 394 विकेट झटके थे। उन्होंने जोफ्रा आर्चर को आउट कर 400 विकेट पूरे कर लिए। वह दुनिया के दूसरे सबसे तेज, जबकि भारत के सबसे तेज गेंदबाज बन गए हैं। उनसे पहले अनिल कुंबले ने 85 टेस्ट मैच में ये कारनामा किया था।अश्विन टेस्ट मैचों में 400 विकेट लेने वाले दुनिया के 16वें और भारत के चौथे गेंदबाज बन गए हैं। वह छठे स्पिनर हैं जिन्होंने टेस्ट मैचों में 400 विकेट लिए हैं। भारत की तरफ से उनसे पहले अनिल कुंबले (619), कपिल देव (434) और हरभजन सिंह (417) इस मुकाम पर पहुंचे थे। अश्विन से पहले यह उपलब्धि हासिल करने वाले स्पिनरों में मुथैया मुरलीधरन (800), शेन वार्न (708), कुंबले, रंगना हेराथ (433) और हरभजन शामिल हैं। भारत के चौथे गेंदबाज
भारत के लिए 400 विकेट लेने वाले अश्विन चौथ गेंदबाज हैं। उनसे अधिक अनिल कुंबले (619), कपिल देव (434) और हरभजन सिंह (417) ने विकेट झटके हैं।

ऐसा है धांसू प्रदर्शन

अश्विन ने 29 बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट और सात बार मैच में दस या इससे अधिक विकेट लिए हैं। उन्होंने अपनी भारत में 46 मैचों में 277 और विदेशों में 31 मैचों में 123 विकेट हासिल किए हैं। उपमहाद्वीप की अनुकूल परिस्थितियों में उनकी गेंदबाजी की तूती बोली है। उन्होंने अपने 317 विकेट भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश में लिये हैं। भारतीयों के लिए रेकॉर्ड स्थल यह मैदान
अहमदाबाद भारतीय क्रिकेटरों के लिये रेकॉर्ड स्थल रहा है। सुनील गावस्कर ने यहीं 10,000वां टेस्ट रन बनाया था, जबकि कपिल देव ने यहीं पर रिचर्ड हैडली के सर्वाधिक टेस्ट विकेट के तत्कालीन रेकॉर्ड को तोड़ा था। 

Back to top button
E-Paper