सिरके के ये चमत्कारी फायदे कर देंगे आपको हैरान, जानिये कैसे करे इसका इस्तेमाल…

सिरके का प्रयोग अचार, चटनी और खाने की कई चीजों में तो आप करते ही होंगे। लेकिन रसोई से हटकर भी इसके तमाम फायदे हैं। बिगत दिनों के अपेक्षा इन दिनों मार्किट में अलग-अलग तरह के विनेगर (सिरका) मौजूद हैं, जिसमें एप्पल साइडर विनेगर से लेकर वाइट विनेगर तक शामिल होता है। भारत में सबसे ज्यादा एप्पल साइडर विनेगर और डिस्टिल्ड विनेगर के बारे में ही लोगों को पता है। अल्कोहिक लिक्विड का फर्मेंटेशन करके विनेगर तैयार होता है। कई फ़र्मेंटेड सामग्री जैसे- नारियल, चावल, खजूर, शहद आदि की मदद लेकर विनेगर बनाया जाता है। विनेगर के कई फायदे होते हैं।

सिरके का प्रयोग अचार, चटनी और खाने की कई चीजों में तो आप करते ही होंगे। लेकिन रसोई से हटकर भी इसके तमाम फायदे हैं। यह स्वास्थ्य से लेकर खूबसूरती निखारने के काम आता है। इसका प्रयोग घर की सफाई और कई छोटी-बड़ी बीमारियों के इलाज में किया जा सकता है। हालांकि स्वास्थ्य के लिहाज से सफेद सिरका और सेब के रस से बना सिरका बहुत फायदेमंद होता है। यहां हम आपको सिरके के कुछ ऐसे ही हैरान कर देने वाले इस्तेमाल बता रहे हैं जो घर संवारने और खूबसूरती निखारने में आपकी खूब मदद करेंगे।

सिरका के बेमिसाल फायदे

जिद्दी दाग हटाने में

अक्सर हमारे कपड़े पसीने के दाग की वजह से खराब हो जाते हैं। हल्के रंग के कपड़ों के साथ ऐसा खासतौर पर होता है। कपड़े धोने से पहले इन दागों पर स्प्रे करने वाली बोतल से सिरका छिड़कें। दाग आसानी से गायब हो जाएंगे।

फूलों को तरोताजा रखने में

गुलदस्ते में फूलों को ज्यादा देर तक तरोताजा रखना मुश्किल होता है। इनको देर तक फ्रेश बनाए रखने में सिरका काम आएगा। फूलदान के पानी में एक चम्मच सफेद सिरका डाल देंगे तो फूल देर तक ताजे रहेंगे।

अंडे को साबुत रखने में

कई घरों में अंडा नियमित तौर पर प्रयोग होता है। इनको उबालते समय गरम पानी में थोड़ा सिरका मिला दिया जाए तो अंडे में क्रैक नहीं आता है और इस तरह अंडे का सफेद हिस्सा फैलता भी नहीं है।

बेहतरीन कंडिशनर

सिरके का इस्तेमाल कंडिशनर के रूप में भी किया जाता है। एक कप पानी में आधा चम्मच सिरका मिलाकर इससे बालों की मसाज कीजिए। इससे आपके बालों में एक नई चमक आ जाएगी।

गले की खराश को दूर करने के लिए

अगर आपके गले में खराश है तो एक कप गर्म पानी में एक चम्मच सेब के रस वाला सिरका मिला दीजिए। इस पानी से गार्गल करने से आपके गले की खराश दूर हो जाएगी।

हिचकी रोकने के लिए

अगर आपको लगातार हिचकियां आ रही है तो एक चम्मच सिरका पी लीजिए। कुछ समय बाद ही आपको हिचकी आना बंद हो जाएगा।

फर्श और फ्रिज साफ करने के लिए

पानी में सफेद सिरका घोल कर फर्श, फ्रिज और रसोई की आलमारियों को साफ किया जा सकता है। लेकिन याद रखें कि फर्श संगमरमर या ग्रेनाइट की न हो। बता दें कि सिरके का इस्तेमाल फ्रिज से भोजन की दुर्गन्ध को भी हटाने के लिए किया जाता है।

चीटियों को भगाने में

क्या आपको पता है कि चीटियों को सिरका अच्छा नहीं लगता। अगर घर में चीटियां हैं तो कोनों में सिरके और पानी को बराबर मात्रा में मिलाकर छिड़क दें। कुछ ही देर में चीटियां आपका घर खाली करके भाग जाएंगी।

एक्ने को साफ़ कर चमकाए चेहरा

सफेद सिरका एक बेहतरीन एंटीसेप्टिकक है और यह एक्ने दूर करने में बहुत कारगर होता है। यह त्वचा के पीएच बैलेंस को भी सुधारता है। हां, इस ट्रिक को आजमाने से पहले सिरके में इसकी बराबर मात्रा का पानी मिला लें। त्वचा को किसी सौम्य फेसवॉश से साफ करें और साफ तौलिए से पोंछ लें। कॉटन से सिरके व पानी का मिक्सचर एक्ने वाली जगह पर लगाएं और 5 मिनट बाद साफ पानी से धो दें।

मौजूद सिरके के प्रकार

शुगरकेन विनेगर

हिन्दुस्तान में आम घरो में सबसे ज्यादा मिलने बाला सिरका यही है। गांव कस्बो की बात करे तो सबसे ज्यादा इसी सिरका की मात्रा पायी जाती है। यह सिरका सुद्ध गन्ना से तैयार किया जाता है। आम तौर पर इसका इस्तेमाल, अचार रखने, सलाद व अन्य उपयोगी चीजों में किया जाता है। नाम में भले ही शुगर हो लेकिन असलियत में यह स्वाद में बिलकुल मीठा नहीं होता।

एप्पल साइडर विनेगर

एप्पल साइडर विनेगर एप्पल यानी की सेब से तैयार किया हुआ सिरका होता है। आम तौर पर इसकी गंध आम सिरको की अपेक्षा बहुत हल्की होती है, हालांकि स्वाद काफी अच्छा होता है। अमेरिका और भारत में इस विनेगर का इस्तेमाल सबसे अधिक होता है। ये विनेगर हल्के पीले रंग का होता है जिसे सेब की मदद से बनाया जाता है। वजन घटाने में एप्पल साइडर विनेगर को बहुत इफेक्टिव माना जाता है।

माल्ट विनेगर

ये विनेगर लाइट गोल्डन रंग का होता है। ये विनेगर ऑस्ट्रिया, जर्मनी और नीदरलैंड में काफी मशहूर है। इसे बीयर से तैयार किया जाता है। इसमें एसिटिक एसिड की मात्रा होती है जो वजन कंट्रोल करने में मदद करता है।

राइस विनेगर

जैसा की नाम से ही प्रतीत होता है की इसका निर्माण चावल से किया जाता है। ये सिरका स्वास्थ्य के लिहाज से भी काफी अच्छा माना जाता है। ये विनेगर के पुराने प्रकारों में से एक है। वाइट राइस को फर्मेंट करके इस विनेगर को तैयार किया जाता है। वाइट राइस विनेगर का सबसे ज्यादा इस्तेमाल अचार बनाते वक्त किया जाता है।

बैलसेमिक विनेगर

इसे लोग डार्क ब्राउन विनेगर के तौर पर जानते हैं। इस विनेगर को अंगूर की मदद से बिना फ़िल्टर और फर्मेंट किये बनाया जाता है।

वाइट विनेगर

वाइट विनेगर का इस्तेमाल खाना पकाने में किया जाता है। खासकर चाइनीज़ खानों में इसका इस्तेमाल सबसे अधिक होता है।

Back to top button
E-Paper