1 रुपए का ये सस्ता और आसान उपाय, आपके बच्चे पर से बुरी नजर को दूर भगाए

नज़र लग जाना कोई बीमारी नहीं, बल्कि ऊपरी हवाओं के समान ही एक ऐसी समस्या है जिसका उपाय मेडिकल साइंस और हकीम-डॉक्टरों के पास भी नहीं होता है। जब किसी इंसान को बुरी नजर लगती है तो उसपे ना जाने कितनी बाधाएं व मुसीबतें आ हैं और घर की खुशियों पर भी इसका गहरा असर पढ़ता है। नज़र लगना एक बहुत बड़ा दोष माना जाता है। कई बार देखा गया है की नज़र के कारण अच्छा भला व्यवसाय अचानक रुक जाता है, बच्चा बीमार पड़ जाता है या बनता काम बिगड़ जाता है।

नज़र से बचने का हल टोटके और गंडे-तावीज ही हैं, कोई भी दवा बुरी नज़र से ग्रस्त बालक को ठीक नहीं कर सकता। कहते है कि बेटे को माँ की भी नज़र लग जाती है, पर इसका उपाय लोगों को पता नहीं होता। लेकिन चिंता की कोई बात नहीं, जब आपका बालक बुरी नज़र का शिकार हो जाए, तब इधर-उधर भटकने की बजाय इन टोटकों को स्वयं ही कर लीजिए।

नजर हटाने वाले टोटके

  1. जिस स्त्री या पुरूष पर आपका संदेह हो कि उसकी नज़र आपके बच्चे को लगी है, तो उसका हाथ अपने बच्चे के सिर पर फिरवा दें। नजर उतर जाएगी।
  2. गाय के ताजा गोबर का दीपक बनाकर, उसमें छोटे-सा गुड़ का एक टुकड़ा और सरसों का तेल डालकर घर के प्रमुख द्वार की दहलीज के मध्य जलाकर नज़र लगे व्यक्ति या बच्चे को दिखाकर दीपक की ज्योति को किसी चमड़े की चप्पल या जूते से बुझा दें. इससे नजर उतर जाएगी।
  3. रविवार के दिन बच्चे के सिर से तीन बार दूध उतारकर मिट्टी के पात्र में भर दें और दूध कुत्ते को पिला दें।
  4. शनिवार के दिन हनुमानजी के मंदिर से हनुमान जी के कंधो का सिंदूर लाना चाहिए और नज़र लगे व्यक्ति के मस्तक पर लगाना चाहिए।
  5. बुरी नज़र उतारने के लिए राई के सात दाने, नमक का सात छोटी-छोटी डली, सात साबुत लाल मिर्च नजर से पीड़ित बच्चे के सिर के ऊपर से उतारकर जलती आग में डाल दें। इस क्रिया को करते समय किसी की टोक नहीं होनी चीहिए। साथ ही ये समस्त कार्य बांए हाथ से करना चाहिए और आग के लिए लकड़ी देशी आम की होनी चाहिए।
  6. नज़र लगे व्यक्ति के ऊपर से फिटकरी उतारकर उसे बाएं हाथ से कूट लें और फिर उस चूरण को कुएं में डाल दें। नज़र उतर जाएगी।
  7. लहसुन, बाक, राई, नमक, प्याज के छिलके एवं सूखी लाल मिर्च। ये सब नज़र लगे बच्चे पर सात बार घुमाकर अंगारों पर डाल दें। जलने पर बदबू आ जाए तो समझें नजर लगी है. नज़र उतर जाएगी।
Back to top button
E-Paper