11000 लाइन के झूलते जर्जर तार,विभाग नहीं दे रहा ध्यान, कभी भी हो सकती है बड़ी दुर्घटना

कौशलेंद्र पाण्डेय
नवाबगंज/बहराइच। विकासखंड नवाबगंज क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति हेतु क्षेत्र में संचालित 11 हजार की लाइन के झूलते हुए जर्जर तार खुलेआम दुर्घटना को दावत दे रहे हैं। कई बार शिकायत करने के बावजूद संबंधित अधिकारियों का ध्यान इस ओर नहीं जा रहा है।

जिससे कभी भी किसी बड़ी दुर्घटना से इनकार नहीं किया जा सकता। विद्युत पावर सबस्टेशन सहाबा से संचालित 11 हजार की लाइन जो लक्ष्मनपुर गांव से होते हुए मकनपुर तक गई है। जिसमें लगे ट्रांसफार्मर द्वारा गांव की बिजली आपूर्ति की जाती है। ग्रामीणों के खेतों व गांव से होकर यह लाइन गुजरती है। क्षेत्र के ग्राम लक्ष्मनपुर में गांव के बीचो-बीच से गुजरी 11हजार की इस लाइन से गांव की आबादी को विद्युत आपूर्ति की जाती है।लेकिन विगत एक वर्ष से 11हजार की इस लाइन के विद्युत तार जर्जर होकर जमीन छू रहे हैं। 

ग्रामीणलियाकत, राजेश, अरुण, सतीश, सत्रोहन, रामधन, विजेंद्र आदि के अनुसार इस 11हजार लाइन के झूलते हुए तार जमीन से मात्र 5 या 6 फुट की दूरी पर लटक रहे हैं। जिससे कभी भी बड़ी दुर्घटना घट सकती है। आये दिन इन तारों के नीचे से मवेशी या बच्चों का गुजरना होता है। लाइन चालू रहने पर इन विद्युत तारों से कोई बड़ी दुर्घटना हो सकती है। ग्रामीणों का कहना है कि कई बार संबंधित अवर अभियंता एवं लाइनमैन को सूचना देने के बाद भी 11हजार लाइन के इस झूलते तारों को न तो बदला गया और ना ही इनकी मरम्मत की जा सकी है। विभाग की इस लापरवाही से जहां लोगों को जान का खतरा बना हुआ है, वहीं ग्रामीणों में आक्रोश भी व्याप्त है। इस सम्बन्ध में अवर अभियंता बिजली सीडी गुप्ता का कहना है कि उन्हें जानकारी मिली है, जल्द ही जर्जर तारों को दुरुस्त किया जाएगा।

Back to top button
E-Paper