दरोगा के मोबाइल नंबर की आईएमईआई पर चल रहे थे 13 हजार फोन, दर्ज हुआ मुकदमा


मेरठ, । कोरोना वायरस के जन्मदाता चाइना की एक मोबाइल कंपनी का एक बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद अधिकारियों में हड़कंप मचा है। एडीजी कार्यालय में तैनात एक दरोगा के मोबाइल के आईएमईआई नंबर पर 13 हजार से अधिक मोबाइल रजिस्टर्ड पाए गए हैं। सुरक्षा से जुड़ा मामला होने के कारण इस मामले में चाइनीज कंपनी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करते हुए साइबर सेल जांच में जुट गई है।

एडीजी मेरठ जोन राजीव सब्बरवाल ने बताया कि उनके कार्यालय में तैनात एक दरोगा ने कुछ समय पहले एक चाइनीज कंपनी का मोबाइल खरीदा था। कुछ दिन पहले मोबाइल की स्क्रीन टूटने पर दरोगा ने उसे रिपेयर कराया था। मगर इसके बाद से मोबाइल में लगातार खराबी आ रही थी। जिस पर दरोगा ने अपना मोबाइल साइबर सेल को जांच के लिए दिया। साइबर सेल के अधिकारियों ने मोबाइल की जांच की तो उनके होश उड़ गए। दरअसल दरोगा के मोबाइल की रजिस्टर्ड आईएमईआई नंबर पर 13 हजार से अधिक मोबाइल नंबर काम कर रहे थे। मामले की जानकारी मिलते ही एडीजी राजीव सब्बरवाल ने पूरे प्रकरण की जांच साइबर सेल को सौंपी।

एडीजी ने बताया कि यदि यह टेक्निकल फाल्ट है तो इसे सुधारने का प्रयास किया जाएगा। लेकिन यदि कंपनी का कोई फर्जीवाड़ा सामने आया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उधर एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह ने बताया कि इस मामले में कंपनी और डिस्ट्रीब्यूटर के खिलाफ मेडिकल थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। मामला सुरक्षा से जुड़ा होने के कारण साइबर सेल और मेडिकल पुलिस जांच में जुटी है।

Back to top button
E-Paper