30 साल छोटी स्टूडेंट से इस टीचर को हुआ इश्क, पुराने रिश्तों को भी छोड़ा जवान प्यार की खातिर

ये कहना गलत नहीं होगा की प्यार ना उम्र देखती है ना हैसियत देखती है तो सिर्फ अपने महबूब के आँखों में बसा प्यार. आज हम आपको एक ऐसे ही प्यार की कहानी बताने जा रहे हैं जहाँ एक शिक्षक को अपने से उम्र में एक दो साल नहीं बल्कि तीस साल छोटी स्टूडेंट से प्यार हो जाता है और दोनों उम्र के सारे बंधनों को तोड़ते हुए एक दुसरे के प्यार में कायल हो जाते हैं. तो आईये आपको बताते हैं की आखिर कौन है ये प्रेमी शिक्षक और स्टूडेंट का जोड़ा जिसने समाज के मान्यताओं और नियमों को भी दरकिनार कर दिया.

मटुकनाथ और जुली का नाम तो सुना ही होगा

जी हाँ, आज हम जिस टीचर और स्टूडेंट के प्रेम कहानी की चर्चा कर रहे हैं वो और कोई नहीं बल्कि मटुकनाथ और जुली हैं. कुछ सालों पहले दोनों ने समाज से लड़कर एक दुसरे का हाथ थामा था. बता दें की मटुकनाथ और जूली के प्रेम की शुरुवात साल 2004 में हुई थी. मटुकनाथ ने खुद एक इंटरव्यू के जरिये मीडिया को बताया था की जुली उनकी स्टूडेंट थी और एक दिन उसने उन्हें फोन कर बताया था की वो उनसे प्यार करती है. हालाँकि मटुकनाथ ने उस वक़्त जुली को बहुत समझाने की कोशिश की थी की वो पहले से ही शादी शुदा हैं और ऐसा करना उनके लिए संभव नहीं होगा लेकिन जुली ने उनकी एक ना सुनी और धीरे धीरे मटुकनाथ को भी उससे प्यार होगया.

पटना यूनिवर्सिटी के हिंदी के प्रोफेसर मटुकनाथ और उनसे उम्र में तीस साल छोटी उनकी स्टूडेंट जुली के साथ उनकी प्रेम कहानी को एक समय में मीडिया ने खूब हाइक दिया था. दोनों के रिश्तों को लेकर स्टूडेंट से लेकर सामाजिक कार्यकर्ता और यहाँ तक की मटुकनाथ की बीवी ने भी खूब बवाल किया था. एक दुसरे के प्यार में पागल मटुकनाथ और जुली पहले तो समाज जी परवाह किये बिना लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगे लेकिन जब मटुकनाथ की बीवी ने दोनों के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई तो पहले दोनों को हवालात की हवा खानी पड़ी और बाद में दोनों ने शादी कर ली.

वैसे अब दोनों अलग हो चुके हैं

अब वैसा जमाना ही नहीं रहा जब लोग राधा कृष्ण, हीर राँझा और लैला मजनू वाला प्यार करते थे. आजकल अधिक से ज्यादा प्रेम संबंध तो केवल लोग अपने फायदे के लिए बनाते हैं और ऐसा रिश्ता ज्यादा दिनों तक कायम नहीं रह सकता है. कुछ ऐसा ही अंजाम मटुकनाथ और जुली की प्रेम कहानी का भी हुआ. जिस मटुकनाथ और जुली ने अपने प्यार के खातिर अपने माँ बाप और समझ की सभी मान्यतों और परम्पराओं को भी दरकिनार कर दिया था वहीँ अब साथ नहीं है.

जुली के साथ प्रेम निभाने के लिए मटुकनाथ को उसकी पत्नी के साथ साथ अपने प्रोफेसर की नौकरी से भी हाथ धोना पड़ा था. पटना यूनिवर्सिटी ने उन्हें अपनी ही स्टूडेंट के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहने की वजह से बर्खास्त कर दिया था. मटुकनाथ एक ज़माने में जुली के प्यार में इतने दीवाने थे की अपने एरियर से मिली 20 लाख रूपये की रकम को जुली को जन्मदिन के तोहफे के रूप में कार खरीद कर देने पर खर्च कर दिए. सूत्रों की माने तो एक समय में हर न्यूज़ चैनल के प्राइम टाइम प्रोग्राम का हिस्सा बनने वाले मतुख्नाथ और जुली अब अलग हो चुके हैं, शायद दुनिया ने उन्हीं उनकी सच्चाई से रूबरू करवा दिया.

Back to top button
E-Paper