एकनाथ शिंदे के संग नजर आए 42 विधायक, शिवसेना जिंदाबाद के लगाए नारे

शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे के साथ गुवाहाटी में जो विधायक मौजूद हैं, उनकी सबकी एक ग्रुप फोटो और वीडियो सामने आया है. ये सभी विधायक एकसाथ बैठकर शिवसेना जिंदाबाद, बाला साहेब ठाकरे की जय के नारे लगा रहे हैं. इसमें शिवसेना के बागी विधायकों के साथ निर्दलीय विधायक भी शामिल हैं. इनकी कुल संख्या 42 है।

महाराष्ट्र में राजनीति का पारा बढ़ा

मुंबई के महाराष्ट्र में राजनीति का पारा लगातार चढ़ता जा रहा है. वहीं, शिवसेना के बागी विधायकों की संख्या बढ़ रही है. इसके चलते सीएम उद्धव ठाकरे कमजोर साबित होते जा रहे हैं. ताजा जानकारी के मुताबिक बागी नेता एकनाथ शिंदे ने महाराष्ट्र के सीएम को खुली चिट्ठी लिखी है. इस चिट्ठी के जरिए उन्होंने कई आरोप लगाए हैं।

बागी विधायकों की चिट्ठी कई आरोपों का उल्लेख

शिवसेना के बागी विधायकों की एक चिट्टी जारी की गई है. एकनाथ शिंदे ने इस चिट्टी में कई आरोपों का उल्लेख किया है. उन्होंने कहा कि हमारे साथ लगातार पक्षपातपूर्ण रवैया किया गया. उन्होंने आगे लिखा कि हमारी पहुंच उद्धव ठाकरे तक नहीं होती थी।

वहीं, शिंदे ने कहा कि हमें अयोध्या जाने से भी रोका गया. सिर्फ आदित्य ठाकरे को अयोध्या भेजा गया. हमारी परेशानियों को आपने कभी नहीं सुनी. हमें उद्धव के दफ्तर जाने का सौभाग्य नहीं मिला. हिन्दुत्व-राम मंदिर शिवसेना का मुद्दा था. हम उद्धव के सामने अपनी बातें नहीं रख पाते थे।

शिवसेना विधायक गुवाहाटी पहुंचे

वहीं, आज सुबह तीन और शिवसेना विधायक पाला बदलते हुए गुवाहाटी पहुंचे. इससे पहले बुधवार को चार और विधायक गुवाहाटी में शिंदे गुट से जा मिले थे. शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने गुरुवार को कहा कि जब फ्लोर टेस्ट होगा तब सभी देखेंगे. ईडी के दबाव में पार्टी छोड़ने वाले बालासाहेब ठाकरे के सच्चे अनुयायी नहीं हो सकते. महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार में राजनीतिक अस्थिरता के बीच, राउत ने आगे दावा किया कि पार्टी अभी भी मजबूत है और विद्रोही बाल ठाकरे के सच्चे “भक्त” नहीं हैं।

शिंदे पर कटाक्ष राउत ने किया कटाक्ष

एकनाथ शिंदे पर कटाक्ष करते हुए राउत ने कहा, “हम उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में बालासाहेब ठाकरे के काम के साथ हैं, मैं बालासाहेब ठाकरे का समर्थन करता हूं और मैं बालासाहेब ठाकरे का समर्थन करता हूं, इस तरह के बयान से आपको यह साबित नहीं होगा कि आप बालासाहेब के असली अनुयायी हैं. साथ ही आरोप लगाया कि प्रवर्तन निदेशालय के भय से विधायक बागी बने हैं।

Back to top button