आरोप : थानाध्यक्ष छतारी पर दलालों को संरक्षण और जनप्रतिनिधियों के साथ दुर्व्यवहार बरतने का आरोप

थानाध्यक्ष द्वारा दुर्व्यवहार व दलालों को संरक्षण देने से जनप्रतिनिधियों में भारी रोष

क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों ने एसएसपी से थानाध्यक्ष को हटाने की मांग

नरेन्द्र राघव

छतारी। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही थाना परिसर में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने में लगे हुए हैं। एवं थाने में जनप्रतिनिधियों एवं आम जनता से मधुर व्यवहार बनाने की बात कहते हैं। लेकिन कुछ थानेदार सीएम सहाब की बातों पर बिल्कुल भी गौर न करते हुए अपनी मनमानी करने पर उतारू हो रहें हैं।यह केवल अपने चुनिंदा दलालों को रखकर केवल कमाई करने में लगे हैं। ऐसा ही आरोप का मामला जनपद के थाना छतारी में तैनात थानाध्यक्ष राहुल चौधरी पर लगा है। क्षेत्र के सभी जनप्रतिनिधियों ने एसएसपी को अपने अपने लेटरहेड पर लिखकर थानाध्यक्ष पर आरोप लगाया है कि थानाध्यक्ष के द्वारा सभी क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों से ग़लत व्यवहार किया जाता है। जब भी जनप्रतिनिधि द्वारा थाने में क्षेत्र से संबंधित समस्याओं को लेकर जाते हैं तो थानाध्यक्ष उनसे अभद्र व्यवहार किया करते हैं। वहीं केवल चुनिंदा दलालों से ही नरम व्यवहार करते हैं। और क्षेत्र के सभी कार्यों को केवल दलालों के द्वारा ही किए जाते हैं। थानाध्यक्ष द्वारा केवल अपनी मनमानी की जा रही है। वहीं थानाध्यक्ष राहुल चौधरी के व्यवहार, दलालों को संरक्षण देने को लेकर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों में काफी रोष व्याप्त है। वहीं थानाध्यक्ष के खिलाफ एसएसपी को ज्ञापन अनिल कुमार सूर्यवंशी जिलापंचायत सदस्य वार्ड नंबर 33,परवेन्दर देशवाल क्षेत्रीय सहसंयोजक पश्चिमी उत्तर प्रदेश भाजपा, शिवकुमार लोधी बरखेड़ा विधायक प्रतिनिधि शिकारपुर,जगनेश चौधरी अध्यक्ष प्रधान संगठन पहासू, राजकुमार प्रधान वाद, चौधरी अजीत सिंह प्रधान स्यारली दलेरगढी, वीर सिंह प्रधान नारायणपुर, प्रवेश कुमार बघेल प्रधान चौगानपुर, प्रधान चौढेरा, त्यौर बुर्जुग,पंड्रावल,कनैनी,बरकातपुर,जिनामई,धौरऊ,सैदगढी आदि जनप्रतिनिधियों द्वारा ज्ञापन देकर कार्यवाही की मांग की है।

वास्तविकता जानने के लिए अगर चैक करें जाएं कैमरे तो स्वयं सच्चाई सामने आए

थानाध्यक्ष पर लगे हुए आरोपों की पूर्णतः सच्चाई जानने के लिए अगर थाना परिसर में लगे हुए कैमरे चैक किए जाएं तो सच्चाई ख़ुद ही सामने आ जायेगी कैमरे से अपने आप ही पता चलेगा कि थाने में कितने व्यक्तियों का आना जाना लगा रहता है। और कौन व्यक्ति कितना थानेदार के पास बैठते हैं और किस काम से थाने में बार बार चक्कर लगाते हैं। और कितने जनप्रतिनिधियों को सम्मान दिया जाता है और कितना सम्मान दलालों के लिए। सच्चाई स्वयं ही सामने आ जायेगी।

एसएसपी द्वारा थानाध्यक्षों को दीं गई थी चेतावनी

एसएसपी श्लोक कुमार के चार्ज संभालते हुए ही सभी थानाध्यक्षों को चेतावनी देते हुए कहा था कि पुलिस अपनी इमेज को सुधारने का कार्य करें। अगर जब भी कोई पीड़ित व्यक्ति थाने जाता है तो सभी उससे अच्छी तरीके से समझाने का कार्य करें। दलालों द्वारा हो रही कमाई को पुरी तरह से बंद कर दें। जिससे पुलिसिंग बहुत ही अच्छी होगी और जनपद में पुलिस की एक अच्छी इमेज बनेंगी। इस चेतावनी पर शायद थानाध्यक्ष छतारी के कानों में जूं तक नहीं रेंगी।

एसएसपी बुलन्दशहर श्लोक कुमार ने बताया कि मामला संज्ञान में है कल काफी प्रधानों का प्रतिनिधिमंडल द्वारा लेटरहेड पर शिकायत दी गई है।जिसकी जांच सीओ शिकारपुर को दें दी है। जांच के बाद उचित कार्यवाही की जायेगी।

Back to top button