चित्रकूट बैठक में प्रशिक्षण के साथ-साथ मिशन 2024 पर होगा पूरा फोकस, भाजपा ने बनाया ये प्लान

लखनऊ । भाजपा का तीन दिवसीए प्रशिक्षण अभियान शुक्रवार से भगवान श्रीराम की तपोभूमि चित्रकूट में प्रारम्भ हो रहा है। वैसे तो यह प्रशिक्षण अभियान पार्टी के नेताओं को भाजपा का इतिहास विकास के साथ वैचारिक अधिष्ठान, रीति नीति और विचार परिवार से संबंध जैसे विषयों से परिचित कराने के लिए समय-समय पर आयोजित होते हैं। लेकिन इस बार यह प्रशिक्षण कई मायनों में खास है। चित्रकूट बैठक में प्रशिक्षण के साथ-साथ मिशन 2024 पर पूरा फोकस होगा।

इस प्रशिक्षण वर्ग में भाजपा के प्रदेश पदाधिकारी,मोर्चा व प्रकोष्ठों के अध्यक्ष व महामंत्रियों के अलावा जिला के प्रभारियों को बुलाया गया है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश से संबंध रखने वाले केन्द्र के सभी मंत्रियों को भी बुलाया गया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत दोनों उप मुख्यमंत्री और प्रदेश सरकार के सभी मंत्री प्रशिक्षण वर्ग में शामिल होंगे।

भाजपा के प्रदेश प्रभारी पूर्व केन्द्रीय मंत्री राधामोहन सिंह,भाजपा के प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल और प्रदेश के सह संगठन मंत्री कर्मवीर समेत प्रदेश सरकार के कई मंत्री चित्रकूट पहुंच चुके हैं। कानपुर भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह को व्यवस्था संबंधी सारी जिम्मेदारी सौंपी गयी है।

प्रशिक्षण वर्ग को भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री बीएल संतोष और पार्टी के वरिश्ठ नेता मुरलीधर राव संबोधित करेंगे।

इन विषयों पर होगी चर्चा

भाजपा का इतिहास विकास

भारतीय राजनीति में भाजपा का योगदान

विचारधारा व सुशासन

राष्ट्रवाद व राष्ट्रीय एकात्मता

मूल्य आधारित राजनीति

चित्रकूट को प्रशिक्षण के लिए भाजपा ने क्यों चुना

पार्टी ने प्रशिक्षण का स्थल चित्रकूट को चुना है। यह स्थल भगवान श्रीराम की तपोभूमि रही है। भगवान श्रीराम ने समाज को सामाजिक समरसता का संदेश दिया। चित्रकूट में ही श्रीराम ने भरत को अयोध्या पर राज करने के लिए खड़ाऊं सौंपी थी। इसके बाद वनवास के बाद अयोध्या लौटे तो एक आदर्श रामराज्य की स्थापना की। यहां पर पार्टी पदाधिकारियों को प्रशिक्षण देने के साथ-साथ उन्हें यह स्मरण दिलायेगी कि भाजपा सामाजिक समरसता को ध्यान में रखते हुए अन्त्योदय के पथ पर चलकर राम राज्य की ओर अग्रसर होना चाहती है।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता आलोक वर्मा ने मीडिया को बताया कि कार्यकर्ताओं की क्षमता वृद्धि और नेतृत्व को भविष्य की चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए तैयार करने के लिए इस प्रकार के प्रशिक्षण वर्ग आयोजित होते हैं। भाजपा स्थापना काल से ही प्रशिक्षण वर्गों का आयोजन करती है। यह प्रशिक्षण प्रदेश के पदाधिकारियों का है। इस प्रशिक्षण वर्ग में पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों और सरकार के मंत्रियों को बुलाया गया है।

Back to top button