मुकदमा दर्ज होते ही ताला लगाकर फरार हुआ व्यापारी

व्यापार में घोटाला, बिना रुपये दिए ही साझेदारी खत्म करने तथा घर बुलाकर बंधक बनाकर मारपीट करने का आरोप

भास्कर समाचार सेवा
मेरठ। व्यापार में घोटाला, बिना रुपये दिए ही साझेदारी खत्म करने तथा घर बुलाकर बंधक बनाकर मारपीट करने का आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज कराया गया है। कोर्ट के आदेश पर ब्रहमपुरी पुलिस ने परिवार के पांच लोगों पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। मुकदमा दर्ज होते ही आरोपी घर पर ताला लगाकर फरार हो गए।

अखलाक पुत्र इब्राहिम निवासी एरा गार्डनिया ने बताया, सलीम अहमद पुत्र अजीज के साथ वह स्केप का कारोबार करता था। उलधन में स्क्रेप बेट्री की फैक्ट्री लगाई थी, जिसमें सलीम ने पांच लाख रुपये दिए थे। व्यापार में अधिक आमदनी होने पर सलीम की नियत बिगड़ गई। उसने अपने पुत्रों शाकिब व शादाब के साथ मिलकर धोखे से मार्केट की जानकारी ले ली। इसके बाद सलीम ने कच्चा माल लेकर बेचना शुरू कर दिया। हिसाब में गड़बड़ी शुरू कर दी, दो माह पूर्व घोटाले का एहसास हुआ तो उसने हिसाब मांगा, आरोप है कि सलीम ने उसे फैक्ट्री से भगा दिया। पीड़ित ने बताया, सलीम पर पुराने तीन लाख 60 हजार व पाटर्नशिप के पांच लाख रुपये बकाया थे, लेकिन साझेदारी रुपये लौटाए बिना खत्म कर दी। डेढ़ माह पूर्व सलीम ने उसे अपने घर बुलाया। आरोप है, पुत्रों, पत्नी, पुत्रवधु के साथ मिलकर उसे बंधक बना लिया और पिस्टल दिखाकर डराया। गलत हिसाब निकालकर उस पर ही पंद्रह लाख रुपये निकाल दिए, फ्लैट पर कब्जा करने की धमकी दी। इस संबंध में गत 6 मार्च 2022 को थाना ब्रहमपुरी में नामजद तहरीर दी गई, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की।

इन धाराओं में हुआ मुकदमा दर्ज
ब्रहमपुरी पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने पर अखलाक ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। स्पेशल न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश पर ब्रहमपुरी पुलिस ने 420, 406, 120बी, 467, 468, 471, 392, 341, 323, 504, 506 आईपीसी की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया।

इनको किया गया नामजद
कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने सलीम अहमद, उसकी पत्नी शाहिबा, पुत्र शाकिब, शादाब, पुत्रवधु शाजिया व आयशा कमर को नामजद किया है। मुकदमा दर्ज होते ही सलीम परिवार के साथ फरार हो गया।  

Back to top button