बहराइच : कोविड प्रीकॉशन डोज के लिए गांव-गांव आयोजित होंगे शिविर

● बढ़ती भीड़ के चलते बनायी गयी कार्य योजना

● एक सप्ताह के अंदर लग जाएगी सभी को प्रिकॉशन डोज

बहराइच l सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पयागपुर में  मंगलवार को ए0 एन0 एम0 साप्ताहिक बैठक की समीक्षा करते हुए सीएचसी अधीक्षक पयागपुर डा. विकास वर्मा ने बताया कि शासन द्वारा 15 जुलाई से जनपद में व्यस्कों को कोरोना से बचाव के लिए निशुल्क कोविड टीकाकरण की प्रिकॉशन डोज लगाने का एलान किया था। जिसके चलते अस्पतालों में भीड़ होना शुरू हो गई है। इसके लिए उन्होने आशाओ को सर्वे कर डाटा भेजने के लिए कहा ताकि गांव में मौके पर ही कैंप लगाकर लोगों को प्रिकॉशन डोज दी जा सके।
उन्होंने बताया कि इससे पहले व्यस्कों को निजी अस्पतालों में कोविड टीकाकरण की प्रिकॉशन डोज लगायी जा रही थी। इसमें लोग अधिक रुचि नहीं दिखा रहे थे। अब सरकारी अस्पतालों में प्रिकॉशन डोज के लिए भीड़ होना शुरू हो गई है। सभी को समय रहते टीका लग सके इसके लिए उन्होने गांव स्तर पर कैंप लगाने के निर्देश दिये। उन्होने सभी सम्मानित जनप्रतिनिधियों, क्षेत्रवासियों, व्यापारियों, कोटेदारों, आगनबाड़ी कार्यकर्ताओ से नगर निकाय और ग्राम पंचायत  में टीकाकरण स्थल पर अधिक से अधिक पात्र लोगों को एकत्र कर टीकाकरण कराने के लिए आग्रह किया है।

एक सप्ताह में सभी पात्र होंगे प्रिकॉशन डोज से आच्छादित –

बीपीएम सीएचसी पयागपुर अनुपम शुक्ल ने बताया इस बाबत कार्ययोजना का निर्माण किया गया है। जिसके अनुसार  प्रतिदिन  प्रत्येक उपकेंद्र क्षेत्र के 27 ग्राम पंचायतों के विभिन्न मजरों को कवर किया जाएगा।  इस तरह से एक सप्ताह में पूरे विकास खण्ड में सभी ग्राम पुरवे में स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा लाभार्थियों को प्रिकॉशन डोज की खुराक प्रदान की जाएगी।

इन दस्तावेजों के साथ लगवाएं प्रिकॉशन डोज-

बीसीपीएम धर्मेंद्र मिश्रा ने बताया कि प्रिकॉशन डोज के लिए लाभार्थियों को अपने टीकाकरण की पर्ची,  आधार व मोबाइल के साथ अनिवार्य रूप से आना होगा। सत्र स्थल की जानकारी आशाओ द्वारा अपने क्षेत्र में टीकाकरण के एक दिवस पूर्व कर दी जाएगी ।

कौन लगवा सकता है प्रिकॉशन डोज-

धर्मेंद्र मिश्रा ने बताया कि 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुके ऐसे सभी लोग जो कोविड वैक्सीन की द्वितीय खुराक 06 माह पहले लगवा चुके हैं प्रिकॉशन डोज के लिए पात्र हैं।
बैठक में गर्भवस्था पंजीकरण, कन्या समुंगला योजना, नियमित टीकाकरण, मातृ वंदना योजना, परिवार नियोजन कार्यक्रम, संचारी रोग नियंत्रण जागरूकता कार्यक्रम के साथ की समीक्षा की गई व आवश्यक सुधार हेतु सभी सम्बंधित को निर्देश दिए गए।

Back to top button