बांदा : एक बीघा जमीन के विवाद में दबंगों ने की बुजुर्ग की हत्या, विवाद में दो पक्षों में चटकीं लाठियां

विवाद में दो पक्षों में चटकीं लाठियां, तीन पुत्र घायल

जांच पड़ताल में जुटी पुलिस, अभी रिपोर्ट दर्ज नहीं

भास्कर न्यूज

बांदा। एक बीघा पांच बिस्वा जमीन पर कब्जे को लेकर लंबे समय से चल रहा विवाद खूनी संघर्ष में बदल गया। दबंगों ने लाठियों से पीट-पीटकर वृद्ध की हत्या कर दी। जबकि तीन पुत्र खूनी संघर्ष में गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। खबर मिलने पर थानाध्यक्ष भारी पुलिस फोर्स के साथ गांव पहुंचे। मृतक के परिजनों से घटना के बारे में जानकारी ली। पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया।

कमासिन थाना क्षेत्र के दलपा पुरवा गांव निवासी राजाबलि प्रजापति (63) पुत्र अंगद प्रसाद बुधवार को शाम घर के बाहर बने मवेशीबाड़े का छप्पर ठीक कर रहा था। इसी बीच लाठी, डंडों और कुल्हाड़ी से लैस पड़ोसी दबंग आ धमके और छप्पर गिरा दिया। विरोध करने पर दोनों पक्षों के बीच विवाद तूल पकड़ गया। दबंगों ने वृद्ध को बेरहमी से लाठी से पीटकर बेदम कर दिया। पिता को बचाने आए पुत्र कल्याण (25), अंगद (21) और रावेंद्र (18) को भी लाठी, डंडा और कुल्हाड़ी से हमलाकर लहूलुहान कर दिया। पिता-पुत्रों को बेरहमी से पीटने के बाद पड़ोसी दबंग मौके से भाग निकले। घटना की खबर मिलने पर कमासिन थानाध्यक्ष भारी पुलिस फोर्स के साथ गांव पहुंच गए। मृतक के परिजनों और ग्रामीणों से घटना की जानकारी ली। घायलों को परिजन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आए। गंभीर हालत में यहां से सभी को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में उपचार शुरू होने से पहले ही घायल वृद्ध ने दम तोड़ दिया। जबकि घायल तीनों पुत्रों का इलाज जिला अस्पताल में किया जा रहा है। थानाध्यक्ष उमेश कुमार सिंह ने बताया कि एक बीघा पांच बिस्वा जमीन पर कब्जे को लेकर दोनों पक्षों के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा है। इसी विवाद में दोनों पक्षों के बीच मारपीट हुई है। कहा कि फिलहाल तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने के बाद रिपोर्ट दर्ज की जाएगी। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

सड़क के नजदीक है विवादित जमीन

जमीन पर कब्जे को लेकर दोनों पक्षों के बीच लगभग तीन साल से विवाद चल रहा है। दोनों पक्षों के बीच कई बार तीखी झड़प और मामूली मारपीट हो चुकी है। अंततरू विवाद खूनी संघर्ष के रूप में तब्दील हो गया। दबंगों की पिटाई से घायल जिला अस्पताल में भर्ती रावेंद्र ने बताया कि लगभग 20 साल पहले उसके पिता ने पड़ोसी एक व्यक्ति से 50 हजार रुपये में जमीन खरीदी थी। वह लोग इस जमीन पर खेती-बारी करते थे। तीन साल से वह लोग इसी जमीन पर मकान बनाकर रहने लगे। सड़क के नजदीक जमीन आते ही पड़ोसी दबंग ने जमीन पर अपना मालिकाना हक जताते हुए कब्जा करने लगे। आरोप है कि दबंगों के विरुद्ध कई बार थाने में प्रार्थना पत्र दिया, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। कहा कि पुलिस दबंगों पर कार्रवाई करती तो उसके पिता शायद जिंदा होते।

यूपी-112 के जाते ही दबंगों ने किया हमला

लाठी, डंडा और कुल्हाड़ी से लैस दबंगों के धावा बोलते ही घायल रावेंद्र ने तत्काल घटना की सूचना यूपी-112 को दी। सूचना मिलने के कुछ देर बाद यूपी-112 गांव पहुंच गई। आरोप है कि मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मियों ने दबंगों पर कार्रवाई करने के बजाए उन्हें फटकार लगाई। विवाद न करने की हिदायत देकर लौट गई। यूपी-112 के जाते ही दबंगों ने हमला बोल दिया। घटना के वक्त वह निहत्थे थे। जबकि दबंग लाठी, डंडा और कुल्हाड़ी के साथ पूरी तैयारी से आए थे।

Back to top button