बांदा : लूट के माल समेत पुलिस ने तीन शातिर लुटेरों को दबोचा

एक सप्ताह पहले हुई लूट का पुलिस ने किया खुलासा

चाकू मारकर ई-रिक्शा चालक से की थी लूटपाट

भास्कर न्यूज

बांदा। एक सप्ताह पहले चाकू मारकर ई-रिक्शा चालक के साथ हुई लूटपाट का पुलिस ने खुलासा करते हुए तीन शातिर लुटेरों को पुलिस ने दबोच लिया। पकड़े गए लुटेरों के पास से पुलिस ने लूटा गया ई-रिक्शा, चेन, मोबाइल फोन व नगदी बरामद की। कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद पुलिस ने लुटेरों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया।

पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर अपराध और अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे ‘आपरेशन क्लीन’ अभियान के तहत एसओजी व देहात कोतवाली पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली। रविवार को पुलिस लाइन सभागार में मीडिया वार्ता के दौरान अपर एसपी लक्ष्मी निवास मिश्र ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि एक सप्ताह पहले सवारी बनकर बैठे तीन लुटेरों ने मवई बाईपास के आगे ई-रिक्शा चालक अनिल पर चाकू से हमला करते हुए लहूलुहान कर दिया। लुटेरे उसका ई-रिक्शा, चेन, मोबाइल फोन और नगदी लूट कर फरार हो गए। चालक ने तहरीर देकर देहात कोतवाली में अज्ञात तीन लुटेरों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई। रिपोर्ट दर्ज करने के बाद पुलिस घटना के खुलासे में जुट गई।

देहात कोतवाली और एसओजी की संयुक्त टीम ने सर्विलांस व सीसीटीवी फुटेज की मदद से पचनेही गांव मोड़ के पास घटना में शामिल तीन लुटेरों देहात कोतवाली क्षेत्र के पचनेही गांव निवासी सज्जन सिंह पुत्र बल्देव सिंह, शहर कोतवाली क्षेत्र के कांशीराम कालोनी निवासी अमन धुरिया पुत्र महेंद्र धुरिया और मलखान वर्मा पुत्र जलंधर वर्मा को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने गिरफ्तार लुटेरों के पास लूटा गया ई-रिक्शा, चेन, मोबाइल फोन और 400 रुपये नगद बरामद किए। घटना का खुलासा करने वाली टीम में एसओजी प्रभारी राकेश तिवारी, उप निरीक्षक अहमद अंसारी व मयंक सिंह चंदेल समेत हेड कांस्टेबल महेश सिंह, कांस्टेबल दीपक कुमार, निर्मल कुमार, जितेंद्र कुमार, नीतेश समाधिया, भूपेंद्र सिंह, अश्वनी प्रताप सिंह, भानु प्रकाश, सत्यम गुर्जर शामिल रहे। 

Back to top button