बांदा : चार घंटा तक जिला अस्पताल में सर्वर रहा डाउन, मरीज हुए परेशान

पैथोलॉजी जांच भी रही पूरी तरह से ठप

बिना इलाज के लौटे तमाम मरीज

बांदा। जिला अस्पताल में आए दिन सर्वर ठप होने की समस्या सामने आ रही है, जिसकी वजह से मरीजों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मंगलवार सुबह भी सर्वर करीब चार घंटे तक बाधित रहा, जिसके चलते रजिस्ट्रेशन से लेकर रिपोर्ट लेने तक के लिए काउंटर पर लंबी लाइन लगी रही। तमाम मरीज बगैर इलाज कराए बैरंग लौट गए। सर्वर आने के बाद स्वास्थ्य सेवाएं शुरू हुईं।

जिला अस्पताल की ओपीडी में रोजाना एक हजार से अधिक मरीज दिखाने आते है। मंगलवार सुबह लगभग 9 बजे सर्वर ने धोखा दे दिया। सर्वर डाउन होने की वजह से रजिस्ट्रेशन का काम ठप हो गया। इतने में मरीजों की लंबी लाइन लग गई। हालांकि बाद में स्वास्थ्य कर्मियों ने मैन्युवली पर्चा बनाए। वहीं, ब्लड सैंपल कलेक्शन और रिपोर्ट लेने वालों की भी भीड़ लग गई। कई लोग दो-दो घंटे लाइन में खड़े होकर रिपोर्ट मिलने का इंतजार करते रहे। लगभग चार घंटा तक मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। सर्वर ठप होने से मरीजों की रिपोर्ट भी उन्हें समय से नहीं मिल सकी। रिपोर्ट काउंटर पर भी लंबी लाइन इस दौरान लग गई। सर्वर ठप होने के कारण बड़ी संख्या में मरीज बिना डाक्टरों को दिखाए ही वापस लौट गए। देर तक जिला अस्पताल में अफरा-तफरी का माहौल रहा। इस दौरान कुछ मरीजों और स्वास्थ्य कर्मियों की मामूली झड़प भी हुईं। दोपहर बाद लगभग एक बजे सर्वर ठीक होने के बाद स्वास्थ्य सेवाएं बहाल हुईं। सीएमएस डा.एसएन मिश्रा ने बताया कि सर्वर डाउन होने से अस्पताल में दिक्कत हुई है। मरीजों को दिक्कत न हो इसके लिए मैन्युअल काम शुरू किया। सर्वर ठीक होने के बाद काम सुचारू रूप से शुरू हो गया। किसी मरीज को कोई दिक्कत नहीं आई।

बिजली गुल होने से ठप रहा एक्स-रे व सीटी

जिला अस्पताल के खराब हुए स्वतंत्र फीडर को अब तक ठीक न किए जाने से मरीजों के साथ स्वास्थ्य कर्मियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सर्वर डाउन होने के साथ ही बिजली की आंख मिचैली कोढ़ में खाज साबित हो रही है। मंगलवार को जिला अस्पताल की लगभग एक घंटा बिजली गुल होने से एक्स-रे और सीटी स्कैन मशीनें ठप रहीं। दोनों ही विभागों में जांच कराने आए मरीजों को काफी मुश्किलों को सामना करना पड़ा। जिला अस्पताल के इलेक्ट्रीशियन प्रवीण कुमार ने बिजली विभाग अधिकारियों को फोन पर फाल्ट की जानकारी दी। लगभग एक घंटा बाद फाल्ट दुरुस्त होने के बाद आपूर्ति बहाल हुई।

Back to top button