भाजपा पार्षद के भाई की हत्या, हंगामे के बाद बाप-बेटे हिरासत में

No

उदयपुर, 06 फरवरी (हि.स.)। उदयपुर शहर के वार्ड 43 की भाजपा पार्षद सरोज अग्रवाल के भाई सत्यनारायण अग्रवाल (40) की मंगलवार रात हत्या कर दी गई। सत्यनारायण उदयपुर जिले की मावली तहसील के फतहनगर का निवासी है। बुधवार सुबह मावली-नाथद्वारा मार्ग पर बड़ियार के समीप गायरियावास गांव में सड़क किनारे शव मिलने के बाद फतहनगर में हंगामा हो गया। यह जगह फतहनगर से 18 किलोमीटर दूर है। यह जानकारी फैलने के बाद बाजार बंद हो गए।
व्यापारियों में जबर्दस्त आक्रोश व्याप्त हो गया। सड़क पर टायर जलाकर मार्ग भी अवरुद्ध कर दिया गया। मामले की जानकारी मिलते ही मावली विधायक धर्मनारायण जोशी भी फतहनगर पहुंच गए। हालात के मद्देनजर उदयपुर पुलिस लाइन से भी अतिरिक्त पुलिस बल भेजा गया। इस बीच, मावली पुलिस ने शंका के आधार पर घनश्याम जीनगर व उसके दो बेटों लोकेश व चेतन को हिरासत में ले लिया है। तीनों से सख्त पूछताछ की जा रही है। बताया जा रहा है कि मृतक सत्यनारायण व लोकेश में मित्रता थी। दोनों की ही बैग की दुकान है और आसपास है। पुलिस कई पहलुओं के आधार पर पूछताछ कर रही है।
उल्लेखनीय है कि पार्षद सरोज के पति अनिल अग्रवाल भाजपा के मंडल उपाध्यक्ष हैं। ऐसे में कई भाजपा कार्यकर्ता उदयपुर से भी फतहनगर पहुंचे और आरोपी को शीघ्र पकड़ने की मांग को लेकर हंगामा किया। मृतक के परिजनों का कहना है कि मंगलवार रात को सत्यनारायण के मोबाइल पर एक कॉल आया और वह घर से निकला उसके बाद वापस नहीं आया, उसकी स्कूटी कॉलेज के बाहर मिली। इस बात के बाद सत्यनारायण जिसके साथ गया उस पर भी शक की सूई घूम गई। गुस्साए लोगों ने उसकी दुकान से सामान बाहर निकाल कर उसे आग के हवाले कर दिया। माहौल को देखते हुए पांच थानों की पुलिस फतहनगर में लगाई गई। करीब 11 बजे उदयपुर पुलिस लाइन से भी पुलिस बल को फतहनगर के लिए रवाना किया गया। विरोध के चलते सड़कों पर टायर और सामान जलाने के बाद दमकल पहुंची और आग बुझाई।
इससे पहले शव दिखाई देने पर गायरियावास के ग्रामीणों ने सरपंच प्रतिनिधि खेमराज भील को सूचना दी। मौके पर सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। इस पर मावली थाना पुलिस को भी सूचना दी गई। मावली थानाधिकारी घनश्याम सिंह के नेतृत्व में टीम घटनास्थल पहुंची। जहां पुलिस ने मौका मुआयना किया। पुलिस ने मृतक के कपड़े के माध्यम से युवक की पहचान की। 

Back to top button
E-Paper