बाराबंकी : एबीवीपी ने दो दिवसीय ज़िला अभ्यास शिविर किया आयोजित

रामसनेहीघाट बाराबंकी। रविवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद रामसनेहीघाट जिले का दो दिवसीय जिला अभ्यास वर्ग वेद इंस्टीट्यूट दरियाबाद रोड,रामसनेही घाट में संपन्न हुआ।

एबीवीपी का 06 सत्रों में चला दो दिवसीय जिला अभ्यास वर्ग के 75 वर्ष’  सत्र के साथ शुरू होकर सदस्यता, प्रवास, संपर्क, संवाद के साथ सम्पन्न हुआ। वर्ग में अवध प्रान्त के प्रांत मंत्री आकाश पटेल, सीतापुर विभाग संगठन मंत्री अजय शुक्ला, बाराबंकी विभाग संगठन मंत्री सुमित प्रताप सिंह का प्रवास रहा।वेद इंस्टीट्यूट में आयोजित अभ्यास वर्ग में ‘विद्यार्थी परिषद के 75 वर्ष’ पर विषय रखते हुए विभाग प्रमुख पी जे पांडेय ने कहा की संगठन में हर प्रकार के विद्यार्थी के लिए उसी के मुताबिक कार्य है। संगठन में कार्य करते-करते कैसे एक सामान्य विद्यार्थी एक सुयोग्य कार्यकर्ता बन जाता है, उसे आभास भी नहीं हो पाता व कार्यकर्ताओं को विद्यार्थी परिषद के इतिहास से अवगत कराया।प्रान्त मंत्री आकाश पटेल ने  सैद्धांतिक भूमिका सत्र में बताया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने राष्ट्र सर्वोपरि का भाव रख कर कहा कि हम राष्ट्रीय पुनर्निर्माण के व्यापक संदर्भ में शैक्षिक परिवार की अवधारणा पर दृढ़ विश्वास रखकर दलगत राजनीति से अलग रहकर संस्कारित छात्र शक्ति का निर्माण कर देश समाज में रहने वाले सकारात्मक परिवर्तनों में अपनी भूमिका पूर्ण कर रहे हैं इन्हीं सैद्धांतिक भूमिका के तत्वों के साथ एबीपी 1949 से निरंतर अपना कार्य कर रही है हमें अपने देश की प्राचीन संस्कृति परंपरा इतिहास महापुरुष आदि पर पूर्ण विश्वास है और उनके प्रति हमारी श्रद्धा है।सीतापुर विभाग संगठन मंत्री अजय शुक्ला कार्य पद्धति का संगठन के उद्देश्य अथवा लक्ष्य के अनुरूप होना आवश्यक है कार्य पद्धति को सैद्धांतिक भूमिका अपने विचार का हिस्सा माना जाता है अभाविप की निर्णय प्रक्रिया सामूहिक अथवा आम सहमति के सिद्धांत के आधार पर चलती है विद्यार्थी परिषद की कार्य पद्धति विनिर्माण अथवा कार्यकर्ता विकास के माध्यम से राष्ट्रपति धुमाल का उद्देश्य पूर्ण करने को केंद्र में रखकर आगे बढ़ती है।

बाराबंकी विभाग संगठन मंत्री सुमित प्रताप सिंह ने कहा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विश्व का सबसे बड़ा छात्र संगठन है, जो छात्रहित और राष्ट्रहित के मुद्दों को लेकर समाज में अपनी गतिविधियां करता चला आ रहा है,विद्यार्थी परिषद ज्ञान-शील-एकता के मूलमंत्र के माध्यम से छात्रों के मन में राष्ट्र के प्रति चिंतन भाव जागृत करता है।जिला संयोजक आदित्य श्रीवास्तव ने बताया कि 06 सत्रों में चलने वाले इस अभ्यास वर्ग में जिले की 08 इकाइयों से कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।जिनमें रामसनेहीघाट,दरियाबाद, सिद्धौर,देवीगंज,बदोसराय,हैदरगढ़, त्रिवेदीगंज, टिकैतनगर के कार्यकर्ता रहे।जिला संगठन मंत्री शुभम पांडेय ने कहा अभाविप संगठन की शक्ति का मुख्य आधार सदस्यता है, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद एक अखिल भारतीय संगठन है परंतु इसके इस 75 वर्ष की यात्रा में इसे जीवित रखने में और ज्ञान स्वरूप प्रदान करने में प्रवास का बड़ा योगदान रहा है।।जिला प्रमुख लक्ष्मीकांत पाठक ने समारोह सत्र में सभी प्रतिनिधियों का धन्यवाद आभार ज्ञापित कर कार्यक्रम का समापन किया।

कार्यक्रम में प्रभात अवस्थी,आदित्य श्रीवास्तव, नीलेश मिश्रा,नाज़नीन बानो, दुर्गेश वर्मा, प्राची गुप्ता, योगेंद्र मौर्या,महेश मौर्या,राम कुमार श्रीवास्तव, रामेंद्र प्रताप सिंह, उत्कर्ष मिश्रा, रवि रावत, आनंद शुक्ला, आशना तिवारी, अनुज कश्यप, शिवम वर्मा, अंकित वर्मा, अनुज तिवारी, शशिकांत पाठक, रोशन सिंह, संदीप साहू, विवेक सोनी, आदि कार्यकर्ता व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग संचालक गंगा बक्स सिंह,राज्य मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार सतीश शर्मा, एम एल सी अंगद सिंह, विधायक दिनेश रावत , पूर्व विधायक शरद अवस्थी, पूर्व जिला अध्यक्ष भाजपा अवधेश श्रीवास्तव, टिकैतनगर जगदीश गुप्ता,ब्लॉक प्रमुख आकाश पांडेय, इंद्र प्रताप सिंह,चंद्रकेतु अवस्थी,राकेश लोधी, बृजेंद्र सिंह,प्रमोद कुमार गुप्ता, गोविंद गुप्ता, सुरेंद्र कौशल अनुराग गुप्ता (रिशु),संगीता चतुर्वेदी रितेश शंकर गुप्ता,दीपक वर्मा, अनूप साहू, बाबा परमेंद्र विक्रम सिंह,अखिलेश शिवेंद्र सिंह, जयप्रकाश तिवारी आदि लोग उपस्थित रहे।

Back to top button