बरसाती पानी से द्वारिकापुरी गाँव मे तैरती बस्ती बिजली भी नदारत

क़ुतुब अंसारी 
जरवल (बहराइच) चलो गांव की ओर अभियान के तहत जरवल विकास खण्ड के अंतर्गत जरवल देहात के मजरा द्वारकापुरी में भारतीय किसान यूनियन उत्तर प्रदेश अराजनैतिक संपूर्ण भारत संगठन के बैनर तले जिला अध्यक्ष चन्द्रभान सिंह के निर्देश पर भाकियू संगठन के मुख्य जिला मीडिया प्रभारी अशोक मिश्रा छोटे अन्ना के नेतृत्व में महिला व पुरुष कार्यकर्ताओं ने गांव स्तर पर चौपाल लगाकर, विकास की अनदेखी करने पर प्रशासन के विरुद्ध जमकर नारेबाजी करते हुए धरना प्रदर्शन किया। तथा जिलाधिकारी महोदया बहराइच को पत्र भेजकर तत्काल इन सभी समस्याओं के निस्तारण की मांग की।
भाकियू संगठन के ग्राम सभा अध्यक्ष मुंशी लाल ने गांव की समस्या को लेकर बताया कि गाँव की आबादी लगभग 1200 के आसपास है। तथा नाली आदि का निर्माण ना होने से दूषित बरसात का पानी घरों में भर गया है।जिससे संक्रामक  बीमारी  फैलने का खतरा बढ़ गया है। लेकिन ग्राम प्रधान द्वारा केवल कोरा आश्वासन ही दिया जा रहा है। घरों व रास्तों पर जलभराव होने से छोटे-छोटे बच्चों को व महिलाओं को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
संगठन के मुख्य जिला मीडिया प्रभारी अशोक मिश्रा छोटे अन्ना ने केंद्र व उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित स्वच्छ भारत अभियान के बारे में लोगों को विधिवत जानकारी देते हुए कहा कि घर के आस – पास साफ सफाई का विशेष ध्यान देने की बात कही, तथा सुलभ शौचालय का इस्तेमाल करने की सलाह दी।
गांव में विकास कार्यों की अनदेखी करने पर नाराजगी प्रकट करते हुए कहां कि इस गांव का नाम पूर्वजों द्वारा भगवान श्रीकृष्ण की नगरी से प्रेरणा लेते हुए द्वारकापुरी रखा गया था। लेकिन आज इस गांव की हालत नर्क जैसी हो गई है। व विकास की दौड़ में अभी तक इस मजरे में विद्युतीकरण ही नहीं हो पाया है। और छोटे छोटे बच्चे लालटेन की रोशनी में पढ़ने को विवश हैं।
 जबकि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी गांव में विद्युतीकरण करने का आश्वासन दिया जा रहा।  विद्युतीकरण कराया जाए।
भाकियू ग्राम सभा महिला प्रकोष्ठ उपाध्यक्ष मालती देवी ने विकास कार्यों की अनदेखी करने पर प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि गांव में एक भी सुलभ शौचालय सरकार द्वारा नहीं दिया गया है। तथा अधिकांश रास्तो का निर्माण कागजों पर ही कर दिया गया है। जबकि गांव में रास्ते का कोई भी निर्माण कार्य नहीं किया गया है। तथा सारा पैसा निकाल करके अधिकारियों द्वारा बंदरबांट किया गया है। जिसकी जांच कराकर दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई होनी चाहिए। और अधूरे पड़े हुए विकास कार्य को पूर्ण कराया जाए। अन्यथा भाकियू संपूर्ण भारत संगठन के हजारों महिला व पुरुष कार्यकर्ताओ एवं पदाधिकारियों को विवश होकर जरवल विकासखंड मुख्यालय पर अनिश्चितकालीन जन आंदोलन करने के लिए विवश होना पड़ेगा।
जिसकी सारी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।
इस मौके पर राजेंद्र प्रसाद यादव, विक्रम कुमार, सत्रोहन लाल, रमेश कुमार, लालूराम, नरेश कुमार, श्यामू कुमार, रामू कुमार, अवधेश वर्मा, रामनरेश गौतम, गुड्डू, केशवराम, जयराम प्रसाद, कैलाश कुमार, रामतेज प्रसाद, रामसेवक, रामतीरथ, सुमित्रा देवी, ममता देवी, किशोरी लाल, प्रेमलता देवी, हेमा देवी, रागिनी देवी, मालती देवी, माधुरी देवी, संवारा देवी, महादेव प्रसाद वर्मा, रमेश यादव, सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे।
Back to top button
E-Paper