भारतीय किसान यूनियन तोमर बागपत से चला शहीद 750 किसान के लिए कांवड़ लेने हरिद्वार

भास्कर समाचार सेवा

बागपत। भारतीय किसान यूनियन तोमर आज किसान कांवड़ लेने के लिए हरिद्वार रवाना हो गए। भाकियू तोमर गुट के जिलाध्यक्ष नीटू नैन उर्फ बोक्का के साथ किसान कांवड़ के साथ हरिद्वार के लिए रवाना हुए तो उनका गर्मजोशी के साथ छपरौली विधान सभा के बिरला रमाला दाहा व अन्य जगह-जगह स्वागत भी किया गया।
गुट के जिलाध्यक्ष नीटू नैन ने हरिद्वार रवाना होने से पहले कहा कि कृषि कानून के विरोध में चलाए गए आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए किसान कांवड़ लाई जाएगी। हरिद्वार से गुफा वाले मंदिर तक लाई जाने वाली इस कांवड़ में गुट के काफी सदस्य शामिल होंगे। नीटू नैन ने बताया कि कि 13 माह तक दिल्ली बॉर्डर पर कृषि कानून के विरोध में किसानों ने आंदोलन किया। इस आंदोलन में 750 किसान शहीद हुए, लेकिन सरकार ने आज तक इस संबंध में कुछ नहीं बोला। न ही इन इन किसानों को शहीद का दर्जा दिया। सरकार से लगातार मांग भी की जा रही है कि इन किसानों को शहीद का दर्जा दे और परिवार को मुआवजा दें। उन्होंने कहा कि इन शहीद किसानों के लिए भाकियू (तोमर गुट) हरिद्वार से गंगाजल लाकर सरुरपुर के गुफा वाले मंदिर में जलाभिषेक करेगा। नीटू नैन ने सभी से अपील कि शहीद किसानों को याद करें और उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दें। भारतीय किसान यूनियन तोमर गुट द्वारा लाई गई किसान की खूबसूरती देखते ही बनती है। स्कॉर्पियो गाड़ी को कुछ इस कदर सजाया गया है कि लोग रुक कर बिना देखे से रह नहीं पाते। डीडी किसान कावड़ को सजाने में हल, चारपाई, हुक्का, ट्रैक्टर, गाय, बकरी, शेर, किसान आदि के प्रतीक लगाए गए हैं। सबसे अधिक ध्यान आकर्षित कर रहा था किसानों का सिंबल बन चुका हुक्का और हल। जहां भी हो किसान कावड़ रुकती लोगों की भीड़ आसपास जमा हो जाती है और साथ में सेल्फी लेने के लिए उमड़ पड़ती।

Back to top button