Bihar Weather Alert : बिहार में येलो अलर्ट जारी, जानें आपके शहर में कब होगी बरसात

पटना: बिहार में एक बार फिर मानसून (Bihar Monsoon) की गतिविधियों में बदलाव देखने को मिल रहा है. इसके प्रभाव से अगले 5 दिनों के भीतर बिहार के सभी जिलों में बारिश होने के आसार हैं. मौसम विज्ञान केंद्र पटना (Meteorological Department) के अनुसार 25 जुलाई के आसपास मानसून ट्रफ के बिहार की ओर शिफ्ट करने की संभावना है. ऐसे में इन मौसमी प्रभावों से आने वाले 5 दिनों में राज्यभर में बारिश और वज्रपात की संभावना बन रही है. ऐसे में मौसम विभाग ने सभी जिलों के लिए येलो अलर्ट (Yellow Alert) जारी किया गया है.

मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार, बिहार की राजधानी पटना समेत गया, जहानाबाद, नालंदा, बेगूसराय, लखीसराय, नवादा, भागलपुर, बांका, मुंगेर, गोपालगंज, सिवान, सारण, सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, सहरसा, कटिहार, मधेपुरा, बक्सर, भोजपुर, रोहतास, भभुआ, औरंगाबाद, अरवल, खगड़िया, जमुई, पश्चिमी और पूर्वी चंपारण आदि जगहों पर भारी बारिश के आसार हैं. विभाग की ओर से ‘येलो अलर्ट’ जारी किया गया है. इन जिलों के कई स्थानों में वज्रपात के साथ बारिश होने की संभावना जताई है. मौसम विभाग ने सभी को सावधानी बरतने की अपील की.

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, बिहार के सभी जिलों में आने वाले अगले 5 दिनों में हल्की से मध्यम मेघगर्जन, वज्रपात के साथ बारिश होने की संभावना है. वहीं, कुछ स्थानों पर आंशिक बादल छाए रहेंगे. साथ ही कई जिलों के कुछ भागों में करीब 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चलने की संभावना व्यक्त की है.

वहीं, मौसम विभाग ने लोगों से अपील की है कि जब बारिश हो या बिजली कड़के तो लोग पक्के मकान में शरण लें. इस दौरान पूरी सावधानी बरतें. खुले मैदान, नदियां, जलजमाव वाले क्षेत्र, आम और लीची के बागान जैसे जगहों पर बिजली गिरने की संभावनाएं अधिक हैं.

मौसम विज्ञान विभाग ग्रीन, रेड, ऑरेंज और येलो अलर्ट जारी करता है. ग्रीन अलर्ट में संदेश होता है कि कोई खतरा नहीं है. येलो अलर्ट आने वाले खतरे के प्रति सचेत करता है. येलो अलर्ट को मौसम विज्ञान विभाग जैसे-जैसे मौसम खराब होता है, ऑरेंज अलर्ट में परिवर्तित कर देता है. ऑरेंज अलर्ट में बारिश व आंधी की पूरी संभावनाएं होती हैं. इस अलर्ट के बाद लोगों को सावधान होना चाहिए और इधर-उधर जाने पर सावधानी बरतनी चाहिए.

रेड अलर्ट का मतलब है कि स्थिति अत्यंत खतरनाक है. मौसम विभाग के अनुसार ऐसे मौसम में इधर-उधर नहीं निकलना चाहिए. इस अलर्ट का अर्थ है, मौसम खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है. भारी बारिश होने की अधिक संभावना होती है.

Back to top button
E-Paper