फाजलपुर पुलिस चौकी में सिपाहियों के बीच खूनी संघर्ष

दोनों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई लाइन हाजिर किया

भास्कर समाचार सेवा
मेरठ/कंकरखेड़ा। फाजलपुर पुलिस चौकी की बैरक (सूर्य कालोनी) में दो पुलिसकर्मियों के बीच किसी बात को लेकर खूनी संघर्ष हो गया। पुलिस चौकी की बैरक में अफरा तफरी मच गई। इसी बैरक में तैनात अन्य सिपाहियों ने मामले को निपटाने का प्रयास किया तो वही एक सिपाही ने संघर्ष की वीडियो बनाकर वायरल कर दी। इस घटना में दोनों तरफ से थाने में कोई तहरीर नहीं दी गई है। लेकिन अधिकारियों ने विभागीय कार्रवाई करते हुए दोनों को लाइन हाजिर कर दिया।

कंकरखेड़ा इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सक्सेना ने बताया, सिपाही ओजस्वी मलिक और दीपक मलिक कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र की फाजलपुर पुलिस चौकी पर तैनात है। देर रात दोनों ड्यूटी करने के बाद पुलिस चौकी की बैरक में सोने के लिए पहुंचे थे। इसी दौरान दोनों में इसी बात को लेकर गाली गलोच हो गई। जिसके बाद गिरने के कारण दीपक मलिक के सिर में चोट लग गई। इस घटना को देखते हुए अन्य सिपाहियों ने मामले का बीच-बचाव करने का प्रयास किया, लेकिन दोनों के बीच काफी खींचतान हो गई। बाद में घायल सिपाही को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसी घटना की बैरक में तैनात एक सिपाही ने वीडियो बना ली। जिसे वायरल कर दिया गया था। इस घटना के बाद अधिकारियों ने मामले का संज्ञान लेते हुए दोनों पर विभागीय कार्रवाई करते हुए लाइन हाजिर कर दिया है। अभी दोनों तरफ से थाने में कोई तहरीर नहीं दी गई।

दूसरी तरफ दोनों में मारपीट की घटना का वीडियो और एक मैसेज वायरल हो गया है। जिसमें बताया गया है कि दीपक मलिक पर ओजस्वी मलिक ने अपने साथियों के साथ चाकू से हमला किया है। जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया। लेकिन इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सक्सेना का कहना है कि चाकू से हमला नहीं हुआ। मारपीट में गिरने के कारण दीपक के सिर में चोट लगी है।

Back to top button