रणजी ट्रॉफी के फाइनल में पहुंची चैंपियन मुंबई, पहली पारी में बनाए 374 रन

41 बार की चैंपियन मुंबई ने रणजी ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में जोरदार वापसी की है। उसने पहली पारी में 374 रन बनाए हैं। उसकी ओर से सरफराज खान ने शतक जमाया। जवाब ने मप्र ने गुरुवार को मुकाबले के दूसरे दिन का दूसरा सेशन समाप्त होने तक बगैर विकेट गंवाए 43 रन बना लिए हैं। ओपनर यश दुबे 11 और हिमांशु मंत्री 31 के निजी स्कोर पर नाबाद हैं।

सुबह मुंबई ने पहली पारी की शुरुआत 248/5 के स्कोर से की थी। उसने पहले दिन के स्कोर में 126 रन जोड़े। हालांकि, टीम ने पांच विकेट भी गंवाए।

सरफराज का मौजूदा सीजन के टॉप स्कोरर हैं

फाइनल की पहली पारी में सरफराज खान (134) ने सैकड़ा जमाया। उन्होंने अपनी शतकीय पारी में 243 गेंदों का सामना किया। इसमें 13 चौके और 2 छक्के शामिल है। उन्होंने आज अपनी पारी की शुरुआत 40 रन से की थी। वे मौजूदा सीजन के टॉप स्कोरर भी हैं।

24 साल के सरफराज ने अपने फर्स्ट क्लास करियर का आठवां शतक जमाया है। पिछली 14 रणजी पारियों में सरफराज एक तिहरा शतक, दो दोहरे शतक, चार शतक और तीन अर्धशतक जमाए हैं।

गौरव को चार, अनुभव को दो विकेट

दूसरे दिन मध्यप्रदेश के गेंदबाजों ने भी दबाव बनाए रखा। उन्होंने सरफराज को खुलकर नहीं खेलने दिया। गौरव यादव ने चार, अनुभव अग्रवाल ने तीन, सारांश जैन ने दो और कुमार कार्तिकेय ने एक विकेट लिए।

पहले दिन मुंबई की अच्छी शुरुआत

पृथ्वी शॉ और यशस्वी जायसवाल ने मुंबई को अच्छी शुरुआत दी। इन दोनों ने पहले विकेट की साझेदारी में 87 रन जोड़े। शॉ 79 बॉल पर 5 चौके और एक छक्का जमाने के बाद मीडियम पेसर अनुभव अग्रवाल की गेंद पर बोल्ड हो गए। इसके बाद जायसवाल ने अरमान जाफर के साथ मिलकर मुंबई को 100 रन के पार पहुंचाया।

मुंबई का दूसरा विकेट 120 रन के स्कोर पर गिरा जब जाफर 56 गेंदों पर 26 रन बनाकर IPL स्टार लेफ्ट आर्म स्पिनर कुमार कार्तिकेय की गेंद पर यश दुबे को कैच थमा बैठे। शाम होते-होते मुंबई ने पांच विकेट गंवा दिए थे

Back to top button