कोल विधायक ने 21 क्षय रोगियों को प्रदान की पोषण किट

भास्कर समाचार सेवा

अलीगढ़। राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत क्षय रोगियों की मदद के लिए प्रथम दायित्व फाउंडेशन द्वारा गोद लिए गए 21 क्षय रोगियों को श्री राम वेंकट हॉल सुरेंद्र नगर में आयोजित कार्यक्रम में बुधवार को पोषण किट का वितरण किया गया।
मुख्य अतिथि कोल विधायक ने बताया कि ऐसे टीबी रोगी जो आर्थिक रूप से पिछड़े है, उनके लिए समाज के प्रत्येक वर्ग को आगे आना चाहिए – ताकि टीबी की दवा के साथ-साथ उन्हें पोषण सामग्री भी समय पर मिल सके। जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. अनुपम भास्कर ने बताया कि पोषण हेतु मिलने वाली सामग्री का सेवन केवल मरीज व्यक्तिगत रूप से करें। सामाजिक संस्थाओं द्वारा किए जा रहे यह प्रयास सराहनीय है।
डीटीओ ने कहा – कि हेल्थ विजिटर की निगरानी में दवाओं के साथ निःशुल्क उपचार से जनवरी 2022 से जून तक शासन द्वारा दिए गए टारगेट के सापेक्ष 104 प्रतिशत हासिल किये है। ऐसा करके जिला उत्तरप्रदेश में तीसरे नंबर पर काबिज है, साथ ही बताया कि टीबी एक संक्रामक बीमारी है, जो एक दूसरे से फैलती है। इसका इलाज पूरा नहीं होने पर परिवार के अन्य सदस्यों में भी बीमारी होने की संभावना रहती है। यदि परिवार में कोई मरीज है तो उससे परिवार के अन्य सदस्यों से अलग रखें- कि अगर उसे फेफड़े की टीबी है तो। जिला कार्यक्रम समन्वयक सतेंद्र कुमार ने बताया जिले में इस साल 1150 क्षय पीड़ितों को विभिन्न सामाजिक संगठनों , अधिकारियों द्वारा गोद लिया गया है। जिले में जियो टैगिंग के माध्यम से ली जा रही स्वास्थ्य की जानकारी, जांच में टीबी पाए जाने के उपरांत हेल्थ विजिटर द्वारा मरीज को दवा व कार्ड मुहैया कराया जा रहा है। ऐसे मरीज के मोबाइल नंबर से संपर्क कर, उन्हें दवा व जांच के समय आने की सूचना भी दी जा रही है। मरीज का दो महीने के बाद फॉलोअप भी शुरू किया जा रहा है, जिसकी जियो टैगिंग की जा रही है। कार्यक्रम में आरजे कल्पना, जिला टीबी/एचआईवी समन्वयक नईम अहमद, टीयू नौरंगाबाद एसटीएस पीयूष गौतम,दायित्व फाउंडेशन से राज सक्सेना, आयुष चौहान, मोहन राणा, विष्णु, आयुष सिंह, साक्षी सिंह, सतेंद्र आदि लोग उपस्थित रहे।

Back to top button