कोरोना : यूपी के इस जिले की स्थिति को लेकर सीएम योगी सख्त, अब नए अफसरों की तैनाती के साथ बनाया ये प्लान…

मेरठ। लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड से आए-दिन वायरल हो रहे बदहाली के वीडियो और ऑडियो पर प्रदेश सरकार सख्त हो गई है। मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रदेश सरकार ने मेडिकल के कोविड वार्ड में अपने एक ओएसडी को तैनात करने का निर्णय लिया है। इसी के साथ डीएम अनिल ढींगरा ने वार्ड में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने के आदेश दिए हैं। जिससे वार्ड में किसी तरह की अनियमितता न बरती जा सके। इसके साथ-साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेरठ की विशेष समीक्षा की है। मेरठ में बिगड़ते हालातों को संभालने के लिए अब प्रमुख सचिव टी. वेंकटेश और आईजी पीटीएस लक्ष्मी सिंह व्यवस्था संभालेंगे।

बता दें कि मेडिकल कालेज के कोविड वार्ड में कई दिनों से बदहाली और बदइंतजामी का आलम फैला हुआ है। वहां पर मरीजों केा देखने के लिए डाक्टर नहीं जाते हैं। एक मरीज ने इसका आडियो और वीडियो वायरल कर दिया था। इसको लेकर मेरठ दक्षिण सीट से भाजपा विधायक डा. सोमेंद्र तोमर ने सीएम योगी से मामले में बातचीत की। जिस पर कार्रवाई करते हुए मेडिकल कालेज में अव्यवस्थाओं से नाराज शासन ने प्राचार्य की मदद के लिए केजीएमयू लखनऊ के ओएसडी को मेडिकल कालेज से संबंद्ध कर दिया।

लखनऊ से आए ओएसडी डा. वेदप्रकाश मेडिकल कालेज के प्राचार्य के अधीन कार्य नहीं करेंगे। वह स्वतंत्र रूप से कोविड वार्ड के परीक्षण और पर्यवेक्षण की जिम्मेदारी संभालेंगे। इसी के साथ डीएम अनिल ढींगरा ने पूरे वार्ड में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने के निर्देश दिए हैं। इनकी पूरे दिन की रिकॉर्डिंग एक पेन ड्राइव में करके सुरक्षित रखी जाएगी। इसी के साथ सभी कैमरों का ऑनलाइन डिसप्ले सीएमओ कार्यालय में कराया जाएगा।

Back to top button
E-Paper