हजरत-ए-अब्बास की वफादारी और शहादत बयां की

भास्कर समाचार सेवा

मेरठ। मौहरर्म की चौथी तारीख को भी नवासये रसूल हजरत इमाम हुसैन और शौहदाये कर्बला की याद में शहर सहित जैदी फार्म में भी जुलूसों का सिलसिला जारी रहा और मजलिसे हुई। हुसैनाबाद पूर्वा फैयाज़ अली स्थित अलहाज डा. सैयद इकबाल हुसैन सफवी ( मरहूम) के अजाखाने से कदीमी जुलूस-ए-अलम हजरत-ए-अब्बास अलहाज सैयद शाह अब्बास सफवी के संयोजन में रात्री 8 बजे बड़ी अकीदत और गमगीन माहौल में परम्पगत बरामद हुआ।

इससे पूर्व मजहर अब्बास आब्दी ने सोजख्वानी की और मौलाना गुलाम अब्बास नौगावा सादात ने मजलिस में हज़रत इमाम हुसैन की फौज के सिपहसालार हजरत-ए-अब्बास की वफादारी और शहादत बयां करते हुये कहा कि दुनिया में हजरत-ए-अब्बास की वफादारी और शुजाअत की मिसाल नहीं मिलती है। उन्होंने हजरत-ए-अब्बास की शहादत बयां की तो हुसैनी सौगवारों की आंखे अश्कबार हो गयी। इसके उपरान्त जब अलम-ए-मुबारक बरामद हुआ तो हुसैनी सौगवारों ने जियारत की इस दौरान अन्जुमन इमामिया के वाजिद अली गप्पू, चांदमिया, मीसम रविश ने और अंजुमन दस्तये हुसैनी के हुमायू अब्बास ताबिश गिजाल रजा, दिलदार जैदी तथा तन्जीम ए अब्बास के सफदर अली अतीक-उल-हसन, दारेन जैदी, काशिफ, जिया जैदी ने नौहे पढ़कर कर्बला के शहीदों को खिराजे अकीदत पेश करके हुसैनियत का पैग़ाम दिया।

जुलूस नगर निगम, घंटाघर मनसबिया इमामबारगाह से होता हुआ देर रात्री छोटी कर्बला चौडा कुआं पहुँच कर सम्पन्न हुआ। इस दौरान रजा अब्बास सफवी, अली हैदर रिजवी, कौसर रजा, तारिक अब्बास, हैदर अब्बास रिज़वी निदेशक हुसैनी इंकलाब चैनल, हाजी शमशाद अली जैदी, तालिब अली जैदी, बाकर रजा, हाजी खुर्शीद जैदी मासूम असगर, सहित बड़ी सख्या मे हुसैनी सौगवार शरीक रहे। जुलूस में व्यापक सुरक्षा व्यवस्था रही।

जैदी फार्म में जुलूस -इसी क्रम में जैदी फार्म स्थित हाजी अफजाल मेहदी मरहूम के अजाखाने से जुलूस अलम बरामद होकर इमामबारगाह इश्तियाक हुसैन जैदी फार्म पहुंचा जिसमें फौजे हुसैनी जैदी फार्म, के जावेद रजा आदि नोहेख्वानों ने नौहे पढ़े और बड़ी संख्या में शरीक हुसैनी सौगवारों ने मातम किया।

अली हैदर रिज़वी मीडिया प्रभारी मोहर्रम कमेटी ने बताया कि कल पांच मौहर्रम इमामबारगाह मौहम्मद अली बुढ़ाना गेट से कदीमी जुलजनाह का जुलूस 2 बजे तथा जैदी फार्म में शाहिद हुसैन के अजाखाने जैदी चौक से अलम-ए-मुबारक का जुलूस 2 बजे बरामद होंगे।

Back to top button