घुटने बचाने को साइकिलिंग करें या पैदल चलें : डॉ. भट्टाचार्य

  • 15,000 से अधिक घुटनों के किए सफल ऑपरेशन।
  • डॉ सुजॉय ने आधा दर्जन विश्व रिकॉर्ड बनाए।

भास्कर समाचार सेवा

मथुरा। घुटने एवं जोड़ों के विश्व प्रसिद्ध स्पेशलिस्ट डॉ. भट्टाचार्य ने कहा के देश में ही नहीं विश्व भर में घुटने एवं जोड़ों की समस्या घर-घर फैलती जा रही है इसे बचने के लिए लोगों को या तो साइकिलिंग करनी चाहिए या पैदल चलना चाहिए तभी हम जोड़ों को बचा सकते हैं और लंबा जीवन जी सकते हैं
विश्व में पहली बार सक्रिय ज्वाइंट रिप्लेसमेंट रोबोट का उपयोग कर घुटने का प्रत्यारोपण करने वाले डॉ. सुजॉय भट्टाचार्य ने कहा कि ब्रजवासियों की सेवा करना उनका प्रथम कर्तव्य है। मैं जहां भी रहता हूं बृजवासी कोई बता दे उसके लिए पहले सेवाएं देने का प्रयास करता हूं।

डॉ. भट्टाचार्य आज यहां ब्रज प्रेस क्लब पर पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। इस अवसर पर एनयूजेआई के राष्ट्रीय सचिव एवं ब्रज प्रेस क्लब के अध्यक्ष डॉ. कमलकांत उपमन्यु एडवोकेट एवं पूर्व ब्लाक प्रमुख एवं रालोद के राष्ट्रीय नेता कु नरेंद्र सिंह ने उनका स्मृति चिन्ह देकर व उत्तरी ओढ़ाकर स्वागत किया।
इस अवसर पर डॉ भट्टाचार्य ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि ब्रज के संत महंत एवं ब्रजवासियों के घुटने की समस्याओं का समाधान के लिए वह तत्पर हैं और जहां भी हैं बृजवासी उनसे मिलकर समस्या का समाधान करा सकता है।
डॉ. सुजॉय भट्टाचार्य एक भारतीय नागरिक संयुक्त प्रतिस्थापन सर्जन व निदेशक के रूप में रोबोटिक संयुक्त प्रतिस्थापन सर्वोदय अस्पताल फरीदाबाद हरियाणा में सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने मध्य प्रदेश के गजरा राजा मेडिकल कॉलेज ग्वालियर से पोस्ट ग्रेजुएशन एमएस (ऑथोपडिक्स) में पूरा कर दुनिया के सर्वश्रेष्ठ केंद्रों से संयुक्त प्रतिस्थापन सर्जरी की तकनीकों में विशेषता प्राप्त की है। इनको कई विश्व रिकॉर्ड जैसे वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्डस यूके, इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकॉर्ड, ऑनलाइन विश्व रिकॉर्ड एवं मेडिकल रोबोट कंपनी क्यूरेक्शो कोरिया मिल चुके हैं। इनके द्वारा 21 जनवरी 2022 प्रातः 8 दुनिया की पहली क्रूसिएट रिटेनिंग टोटल नी रिप्लेसमेंट सर्जरी जो की पूरी तरह से सक्रिय रोबोट क्यूविस जॉइंट के साथ थी।
इस अवसर पर बार के पूर्व अध्यक्ष संतोष शर्मा एडवोकेट, पूर्व सचिव भानु प्रताप सिंह एडवोकेट, स्पेशल डीजीसी पोक्सो कोर्ट अलका उपमन्यु एडवोकेट, सेल टैक्स अधिकारी चंद्रपाल सिंह पोनिया, विवेक प्रिय आर्य, राम रतन चौधरी गोविंद भारद्वाज, गिर्राज सिंह, रामप्रसाद सिंह, रिशु पोनियाँ, हेमलता चौधरी, गोपाल सिंह जग्गा, गौरव एडवोकेट, आदि मौजूद रहे।

Back to top button