Facebook पर बना सकेंगे रैप, लॉन्च किया टिकटॉक जैसा ऐप BARS

फेसबुक के इंटरनल R&D ग्रुप की न्यू प्रोडक्ट एक्सपेरिमेंटेशन (NPE) टीम आज नया एक्सपेरिमेंटल ऐप बार्स (BARS) लॉन्च किया है। इस ऐप को खास रैपर्स के लिए तैयार किया गया है। वे यहां रैप को तैयार करके डायरेक्ट सोशल मीडिया पर शेयर कर पाएंगे। NPE टीम का ये दूसरा म्यूजिक ऐप है। इससे पहले उसने म्यूजिक वीडियो ऐप कोलाब (Collab) को लॉन्च किया था।

राइम्स और लिरिक्स भी मिलेंगे
कोलाब ऐप का फोकस दूसरों के साथ ऑनलाइन म्यूजिक बनाने पर था। जबकि BARS का फोकस खुद के रैपर्स वीडियो बनाने और उन्हें शेयर करने पर है। ऐप पर सैंकड़ों बीट्स दिए हैं। इनमें से यूजर किसी एक को सिलेक्ट करके अपना वीडियो रिकॉर्ड कर सकता है। खास बात है कि ये ऐप ऑटोमैटिकली राइम्स, लिरिक्स का सजेशन भी देता है।

60 सेकंड का वीडियो बना पाएंगे
ऐप पर चैलेंज मोड भी दिया है। यहां पर यूजर ऑटो सजेस्टेड वर्ड्स क्यू के साथ फ्रीस्टाइल रैप कर सकते हैं। ये एक गेम जैसा मोड है। इस एक्सपीरियंस को उन लोगों के लिए डिजाइन किया गया है जो रैप का मजा लेना चाहते हैं। वीडियो की लेंथ 60 सेंकड तक हो सकती है। वीडियो को रिकॉर्ड करने के बाद उसे फोन गैलेरी में सेव कर सकते हैं। या फिर डायरेक्ट उसे सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं।

एस्पायरिंग रैपर्स को मिलेगी मदद
कोलाब की तरह NPE टीम ने महामारी के दौरान BARS को बनाने में अहम रोल निभाया है। इस टीम के मेंबर डीजे लेलेर बताते हैं कि महामारी ने लाइव संगीत की पहुंच उन स्थान तक बंद कर दी थी जहां तक रैपर्स पहुंच सकते थे। लेलेर गोस्टराइटर हिप-हॉप सॉन्ग लिखते हैं।

उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि हाई प्राइस रिकॉर्डिंग स्टूडियो और प्रोडक्शन इक्युपमेंट एस्पायरिंग रैपर्स के लिए लिमिटेड हैं। ऐसे में महामारी की वजह से लाइव परफॉर्मेंस भी बंद हो गई हैं। BARS एस्पायरिंग रैपर्स की टीम के साथ बनाया गया है। अब इसका बीटा वर्जन लॉन्च किया जा रहा है।”

टिकटॉक के जैसा इंटरफेस मिलेगा

BARS ऐप का यूजर इंटरफेस के मामले में टिकटॉक से काफी मिलता-जुलता है। ये दो टैब वर्टिकल वीडियो वाला इंटरफेस है। इसमें फीचर और न्यू फीड दी हैं, जो टिकटॉक के फॉलो और फॉर यू के जैसा है। BARS की स्क्रीन पर नीचे की तरफ राइट कॉर्नर में इंगेजमेंट बटन दिया है।

Back to top button
E-Paper