फतेहपुर : रास्ते दलदल में तब्दील, बारातशाला में दबंगो का कब्जा

दैनिक भास्कर ब्यूरो

फतेहपुर। खजुहा विकासखंड के शहबाजपुर गांव में बारातशाला मवेशियों का अड्डा बनकर रह गया है कई महीने से बिना सफाई के गांव की नालियां बजबजा रही हैंं और रास्तों में जलभराव की वजह से लोगों का निकलना मुश्किल हो रहा है। जानकारी के अनुसार शाहबाजपुर गांव में शासन की योजनाओं का लाभ ग्रामीणों को नही मिल रहा है गांव के अधिकतर रास्ते दलदल में तब्दील हैं। वर्षों से ग्रामीण कच्चे रास्तो में रहने को मजबूर हैं। गांव की बारातशाला भी ग्रामीणों के कार्यक्रमो के प्रयोग में ना आकर उसमें मवेशी बांधे जाते हैं।

विकास न होने से ग्रामीण आक्रोशित

ग्रामीणों ने संवाददाता को दिखाया कि बारातशाला के अंदर जानवरों को खिलाने के लिए पुआल और भूसा भी भरा गया है। जो प्रधान के करीबियों के कब्जे में है। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि गांव में लगभग तीन महीने से कोई सफाई नहीं कराई गई है। तीन महीने पूर्व बीडीसी प्रतिनिधि पिंटू ने 123 वार्ड को छोड़कर अपने वार्ड में सफाई करवाई थी, उससे पहले ग्राम प्रधान प्रतिनिधि ने सिर्फ एक बार सफाई करवाई तब से ग्रामीणों ने स्वयं ही अपने घर के सामने की नालियों की सफाई की है।

जबकि पूर्व के निकले कचरे को कहीं फेंकने की व्यवस्था ना होने के कारण वहीं छोड़ दिया गया था जिससे रास्ते में गंदगी और दुर्गंध से लोगो का जीना दुश्वार है। इसी गंदगी से ना जाने कितने मच्छर पनपते हैं जिससे लोगो के बीमार होने का खतरा भी बना हुआ है। गांव में सफाई न होने से ग्रामीणों में भारी आक्रोश है।

Back to top button