डकैती की योजना बनाते चार शातिर गिरफ्तार

भास्कर समाचार सेवा
सिकंदराबाद। सिकंदराबाद पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। उन्होंने डकैती की योजना बनाते चार शातिर युवक को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से अवैध असलहा बरामद कर आरोपियों को जेल भेज दिया। कोतवाली प्रभारी जितेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि क्राइम इंस्पेक्टर इमाम जैदी को मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि हिरदेपुर मोड़ शमशान के पास पर चार शातिर बदमाश किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में एकत्रित हुए हैं। सूचना पर क्राइम इंस्पेक्टर इमाम जैदी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और घेराबंदी कर चार युवकों को हिरासत में ले लिया। जबकि एक युवक मौके से फरार होने में कामयाब हो गया। तलाशी में दो युवकों से 2 अवैध तमंचा व कारतूस व दों से चाकू बरामद हुए हैं। पूछताछ में एक ने अपना नाम रिजवान, लुकमान ,चांद ,आदिल निवासी रिसालदारन बताया है। पुलिस ने बताया कि पूछताछ के दौरान आरोपियों ने फरार आरोपी के साथ मिलकर डकैती की योजना बनाई थी। पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

आरोपियों में दिनदहाड़े अनजान युवक का गला रेत ने वाला रिजवान भी शामिल

पकड़े गए आरोपियों में रिजवान कुरेशी पुत्र रफीक निवासी रिसालदारआन ने तीन अप्रैल को दिनदहाड़े काजीवाड़ा में एक अनजान युवक रमेश पुत्र तपेश्वरी निवासी सोनभद्र जोकि हाल में औद्योगिक क्षेत्र में रहता था और तीन अप्रैल को बाजार में सामान खरीदने आया था का गला रेत दिया था और खुद छुरी लेकर कोतवाली जा पहुंचा था। पूछताछ में रिजवान ने बताया था कि खौफ पैदा करने के लिए उसने अनजान युवक का गला रेता था।पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था और युवक का सनकी होना बताया था।जिसमें वह जेल में बंद था। करीब डेढ़ माह बाद दिल्ली के एक अस्पताल में 17 मई को घायल रमेश की मौत हो गई थी।आरोपी जमानत पर बाहर आया हुआ था।

फर्जी जमानती लगाकर बाहर आया था आरोपी

क्राइम इंस्पेक्टर इमाम जैदी ने बताया कि हत्यारोपी रिजवान फर्जी जमानती लगाकर जमानत पर आया हुआ था और वह हरिद्वार में एक मकान में किराए पर रह रहा था। पूछताछ के दौरान उसने बताया कि वह मकान मालिक की हत्या की साजिश भी रच रहा था।

Back to top button