मिशन शक्ति पर झोंकी गई पूरी ताकत

मिशन शक्ति नारी सुरक्षा, नारी सम्मान, नारी स्वावलम्बन

 

अमेठी। पिछले एक सप्ताह से प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं के लिए चलाए जा रहे मिशन शक्ति अभियान के क्रम में अमेठी पुलिस ने भी पूरी ताकत झोंक दिया है। रविवार को पुलिस कार्यालय सभागार गौरीगंज में आयोजित पुरस्कार वितरण कार्यक्रम में जिलाधिकारी अमेठी अरुण कुमार व पुलिस अधीक्षक अमेठी दिनेश सिंह द्वारा “पुलिस हमारी मित्र कैसे” प्रतियोगिता में प्रथम विजेता कु0 आस्था, शिवमहेश बालिका इण्टर कालेज गौरीगंज को प्रशस्ति पत्र व मोमेन्टो तथा रुपये 2100/- नकद पुरस्कार, द्वितीय विजेता अंकिता शुक्ला, डा0 प्रताप नारायण मिश्र इण्टर कालेज मोहनगंज को प्रशस्ति पत्र,मोमेन्टो व रुपये 1600/- नकद पुरस्कार तथा तृतीय विजेता अनुष्का त्रिवेदी, रामजानकी बाजपेयी बालिका इण्टर कालेज शिवरतनगंज को प्रशस्ति पत्र, व मोमेन्टो तथा रुपये 1100/- नकद पुरस्कार देकर सम्मानित एवं उत्साहवर्धन किया गया तथा उज्जवल भविष्य की कामना की गई ।

इसके बाद जनपद अमेठी में यूपी-112 के पिंक पीआरवी व एंटी रोमियो स्क्वायड को डीएम व एसपी द्वारा हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया । इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अमेठी डा0 अंकुर लाठर, अपर पुलिस अधीक्षक अमेठी दयाराम सरोज, क्षेत्राधिकारी संतोष सिंह, अर्पित कपूर, गुरुमीत सिंह मौजूद रहे । सप्ताह भर से चल रहे कार्यक्रम के प्रथम दिवस 17 अक्टूबर को महिलाओं एवं बच्चियों के साथ घटित होने वाले अपराधों की प्रभावी रोकथाम हेतु उ0प्र0 सरकार द्वारा चलाये जाने वाले विशेष अभियान “मिशनशक्ति” के क्रम में डीएम, एस पी द्वारा आयोजित कार्यक्रम का शुभारम्भ कलेक्ट्रेट सभागार गौरीगंज में विधायक तिलोई मयंकेश्वर शरण सिंह द्वारा किया गया । मिशनशक्ति के शुभारम्भ के अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली जनपद अमेठी की नारी शक्ति को “प्रेरणा स्रोत” प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया तथा यूपी-112 के पिंक पीआरवी व एंटी रोमियो स्क्वायड में नियुक्त महिला अधि0/कर्म0 को बॉडी वोर्न कैमरा वितरित किया गया तथा पिंक पीआरवी वाहन व एंटी रोमियो को मिशन शक्ति के संबन्ध में जागरूक कर व आवश्यक आदेश निर्देश देकर हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया ।

दूसरे दिन जनपद के थानों द्वारा स्कूल/कालेजो, बाजारों, सार्वजनिक स्थानों आदि में जाकर महिलाओं/बालिकाओं को महिला और बाल सुरक्षा हेतु संवेदनशीलता, लैंगिक हिंसा की रोकथाम आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी तथा जागरूक किया गया। तीसरे दिन जनपद के थानों द्वारा स्कूल/कालेजो, बाजारों, सार्वजनिक स्थानों आदि में जाकर महिलाओं/बालिकाओं को नारी सुरक्षा,नारी सम्मान,नारी स्वावलंबन के प्रति महिलाओं एवं बालिकाओं के मध्य सशक्तिकरण व विश्वास का वातावरण बनाने के उद्देश्य से शासन प्रशान द्वारा महिला उत्थान हेतु चलायी जा रही नीतियों व विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं से अवगत कराया गया तथा जागरूक किया गया ।

चौथे दिन थानों द्वारा स्कूल/कालेजो, बाजारों, सार्वजनिक स्थानों आदि में जाकर महिलाओं/बालिकाओं को “विद्यालयों में बच्चों की सुरक्षा कैसे” बिषय पर छात्रों एवं अध्यापकों को विस्तृत जानकारी देते हुए 1090(वूमेन पॅावर लाइन), 181(महिला हेल्प लाइन), 108(एम्बुलेंस सेवा), 1076 (मुख्यमंत्री हेल्पलाइन), 112(पुलिस आपातकालीन सेवा), 1098(चाइल्ड लाइऩ), 102(स्वास्थ्य सेवा) आदि के बारे में जागरूक किया गया तथा बताया गया कि आप अपनी समस्याओं को बताये गये नंबरों पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकती हैं । पांचवे दिन दिनांक थानों व साइबर सेल अमेठी द्वारा स्कूल/कालेजो, बाजारों, सार्वजनिक स्थानों आदि में जाकर महिलाओं/बालिकाओं को सोशल मीडिया क्राइम के बारे में जैसे- फेसबुक, ह्वाट्स एप पर होने वाले अपराध से बचाव कैसे करें, के बारे में विस्तार से बताया गया तथा महिलाओं को फेसबुक ह्वाट्सएप पर अपने बच्चियों की फोटो पब्लिकली शेयर न करने के बारे में बताया गया तथा सोशल मीडिया पर अनजान लोगो से फ्रेंडशिप न करने जैसी आदि जानकारी देते हुए जागरूक किया गया, महिला थाना प्रभारी द्वारा स्कूल/कालेज में जाकर नुक्कड़ नाटक के माध्यम से जागरूक किया गया तथा पुलिस कार्यालय अमेठी सभागार में कक्षा 09 से कक्षा 12 तक की छात्राओं का प्रतियोगिता शीर्षक “पुलिस हमारी मित्र कैसे” का आयोजन किया गया । जनपद के विभिन्न थानाक्षेत्र के स्कूल/कालेज की छात्राओं ने भाग लिया ।

छठें दिन थानों द्वारा स्कूल/कालेजो, बाजारों, सार्वजनिक स्थानों आदि में जाकर महिलाओं/बालिकाओं को परिवहन निगम, ओला, उबर, व प्राइवेट आटो/टैक्सी में यात्रा के दौरान यात्रा महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा के संबन्ध में जानकारी देते हुए जगरूक किया गया तथा विभिन्न हेल्प लाइन जैसे- 109,181,108,1076, 112,1098,102 आदि के बारे में विस्तार से बताया गया तथा आत्मरक्षा के गुण सिखाये गये । सातवें दिन महिलाओं एवं बालिकाओं के सशक्तिकरण, विश्वास का वातावरण बनाने व अपनी समस्याओं को निर्भीक होकर बताने तथा उनकी समस्याओं को सुनकर त्वरित गति से गुणवत्तापूर्ण निस्तारित करने के उद्देश्य से जनपद के कुल 15 थानों में महिला हेल्प डेस्क का उदघाटन एवं शुभारम्भ किया गया । इस अवसर पर समस्त थानों पर थानाक्षेत्र के सम्मानित संभ्रान्त व्यक्ति, सामाजिक संगठन कार्यकर्ता, आमजन व स्कूल/कालेज की छात्राएं मौजूद रहे । समस्त थानों पर उपस्थित बालिकाओं व महिलाओं को आत्मरक्षा हेतु जागरूक किया गया । थानों पर महिला शिकायतकर्ता के लिये स्थापित महिला हेल्प डेस्क के बारे में भी विस्तार पूर्वक जानकारी दी गयी । आठवें दिन “मिशन शक्ति” अभियान के तहत नारी महिलाओं एवं बालिकाओं में आत्म विश्वास का वातावरण बनाने के उद्देश्य से पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह द्वारा थानाक्षेत्र गौरीगंज के सुदूर ग्रामीण क्षेत्र दुर्गन भवानी में जाकर ग्रामीण बालिकाओं, महिलाओं आदि को 1090(वूमेन पॅावर लाइन), 181(महिला हेल्प लाइन), 108(एम्बुलेंस सेवा), 1076 (मुख्यमंत्री हेल्पलाइन), 112(पुलिस आपातकालीन सेवा), 1098(चाइल्ड लाइऩ), 102(स्वास्थ्य सेवा) आदि के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए जागरूक किया गया तथा जनपद के थानों द्वारा स्कूल/कालेजो, बाजारों, सार्वजनिक स्थानों आदि में जाकर महिलाओं/बालिकाओं को विभिन्न मन्दिरों, मुख्य चौराहों व नुक्कड़ पर जाकर कानून के प्रति जागरुकता, मित्र पुलिस आदि के बारे में जानकारी दी गई

पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने बताया कि जनपद के विभिन्न थानों में यूपी 112 की कुल 14 पिंक पीआरवी कार्य कर रही हैं । महिलाओं/बालिकाओं की समस्याओं को सुनकर त्वरित गति से गुणवत्तापूर्ण निस्तारित करने के उद्देश्य से जनपद के कुल 15 थानों में महिला हेल्प डेस्क स्थापित किया गया है, जिसमें कुल 01 प्रभारी निरीक्षक, 02 महिला उपनिरीक्षक, 02 महिला हे0का0 व 36 महिला आरक्षी कार्यरत हैं । अमेठी पुलिस द्वारा महिला संबन्धी अपराध पर रोकथाम एवं अपराधियों पर प्रभावी नियंत्रण हेतु कार्यवाही करते हुए गुमशुदा/अपह्रता की बरामदगी के विशेष अभियान के अन्तर्गत पूर्व में व मिशनशक्ति अभियान के दौरान कुल 51 गुमशुदा/अपह्रता को सकुशल बरामद किया गया तथा कुल 54 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया । जनपद के कुल 15 थानों द्वारा विभिन्न कुल 57 स्कूल/कालेजों, बाजारों, सार्वजनिक स्थानों व नुक्कड़ नाटक कर कुल 15,680 महिलाओं/बालिकाओं को जागरूक किया गया तथा जनपद के विभिन्न स्कूल/कालेजों में महिलाओं एवं बालिकाओं की सुविधा हेतु शिकायत/सुझाव पेटिका को लगाया गया है, जिसमें महिलाएं एवं बालिकाएं अपना नाम पता अंकित किये बिना अपनी सुविधानुसार अपनी शिकायत व सुझाव को पुलिस को निडर होकर साझा कर सकती हैं । जनपद अमेठी में समस्त थानों की महिला हेल्प डेस्क पर अबतक 97 शिकायतें प्राप्त हुई हैं, जिनमें से समस्त शिकायतों का समयबद्ध व गुणवत्तापूर्वक निस्तारण किया जा चुका है ।

Back to top button
E-Paper