बेसिक शिक्षा मंत्री के जनपद मे राजकीय हाई स्कूल का संचालन मात्र कागजो पर चल रहा है

क़ुतुब अंसारी/राजीव अग्रवाल
रूपईडीहा ( बहराइच ) भाजपा शासन काल मे उ0 प्र0 सरकार के बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जासवाल के जनपद मे शिक्षा का यह हाल है कि विकास खण्ड नबाबगंज के भगवानपुर करिंगा गॉव मे विगत 5 वर्ष पूर्व राजकीय हाई स्कूल का निर्माण कर स्कूल का संचालन किया गया था  जो वर्तमान समय मे मात्र कागजो पर संचालित हो रहा है गौरतलब है कि नेपाल सीमावर्ती ग्राम सभा भगवानपुर करिंगा गॉव मे यह विद्यालय का निर्माण ग्रामीण क्षेत्र के गरीब छात्र छात्राओ को अच्छी शिक्षा प्रदान करने के लिए किया गया था ।
बताते चले कि इस विद्यालय से कस्बा रूपईडीहा की दूरी लगभग 5 किलो मी0 है गौरतलब है कि दूर दराज के छात्र व छात्राए आज भी शिक्षा के लिए 5 किलो मी0 दूर पैदल शिक्षा प्राप्त करने के लिए जाने के लिए मजबूर है । इस सम्बंध मे ग्राम प्रधान भगवानपुर करिंगा गॉव कालिका प्रसाद वर्मा का कहना है कि जब इस गॉंव के नाम पर राजकीय हाई स्कूल भगवानपुर करिंगागॉव का चयन किया गया तो उस समय एक महिला प्राचार्य की नियुक्ति आयोग द्वारा  किया गया हुआ था ।
दरअसल उस समय एक सत्र सरकारी जू0हाई स्कूल मे संचालित कर पहला सत्र हाई स्कूल की परीक्षा राम जानकी इंटर कालेज मे कराया गया  । उसके बाद राजकीय हाई स्कूल के भवन निर्माण के लगभग 20 लाख रूपये की लागत से भवन का निर्माण कराया गया । नवीन स्कूल भवन के निर्माण के बाद इस विद्यालय मे शिक्षा प्रदान करने के लिए एक भी अध्यापक की नियुक्ति नही कराया गया । विवस्त सूत्रो से मिली जानकारी के आधार पर यह विद्यालय कागजो मे आज भी चल रहा है क्षेत्र की जनता वर्तमान सरकार तथा शिक्षा विभाग को कोस रही रही है । इस समबंध मे भूरे ,रिंकू,राम धीरज,पॉंचू, ग्राम परमपुर,पिताम्बर लाल करिंगा गाव,गंगा सागर वर्मा दोलत पुर, राम नरे मिश्रा साई गॉंव चौराहा, आदि सैकड़ो ग्राम वासियो का कहना है कि भईया जबसे स्कूलिया बना तबसे कोई मास्टर पढ़ावे नाही आवा हम लोग अपने लड़कन को रूपईडीहा 5 किलो मी0 पैदल पढ़े के लिए भेजित है । यह हम लोगो की मजबूरी है ।
Back to top button
E-Paper