हरिद्वार : गुजरात में धडल्ले से हो रहा हैं शराबबंदी का ढोंग

दैनिक भास्कर समाचार सेवा

हरिद्वार। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा कि भाजपा शासित राज्य गुजरात में शराबबंदी का ढोंग सामने आ गया है। गुजरात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का गृह प्रदेश है। गुजरात में शराबबंदी के बावजूद जहरीली शराब से बड़ी संख्या में लोगों की मौत होना गंभीर मामला है। हरिद्वार दौरे पर आए यशपाल आर्य ने कहा कि गुजरात ही नहीं भारतीय जनता पार्टी शासित अन्य राज्यों में भी पिछले 5 सालों में अवैध जहरीली शराब से बड़ी संख्या में लोगों की मौत हुई हैं। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड भाजपा शासित राज्यों में ही 5 सालों में अवैध जहरीली शराब से लगभग 600 लोगों की मौत हुई है।

जहरीली शराब से लोगों की मौत को माना गंभीर मामला

वर्ष 2019 में भगवान क्षेत्र में ही तीन दर्जन से अधिक लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई थी। शराब कांड की विधानसभा की समिति से जांच करवाई गई। लेकिन आज तक ये पता नही चला कि आखिर इस कांड के पीछे कौन था और किस विभाग की जिम्मेदारी इसे रोकने की थी। उन्होंने बताया कि इसी दौरान उत्तर प्रदेश के सहारनपुर, मेरठ और कुशीनगर में भी अवैध शराब कांड हुआ जिसमें लगभग 100 लोगों की मौत हुई थी।

आर्य ने आरोप लगाया कि सरकार ने तब दावा किया था कि अवैध शराब के व्यापार को रोकने के लिए कानून लाएंगे। परंतु इस घटना के 7 महीने बाद ही सितंबर 2019 में राजधानी देहरादून में 6 लोगों की मौत अवैध जहरीली शराब के सेवन करने से हो गई। यशपाल आर्य ने कहा कि गुजरात ही नहीं भाजपा शासित हर प्रदेश अवैध जहरीली शराब और नशे का अड्डा बन चुका है।

Back to top button