हरिद्वार : रेलवे स्टेशन पर तैनात पुलिसकर्मी, फर्जी सूचना देने वाला गिरफ्तार

दैनिक भास्कर समाचार सेवा

हरिद्वार। जीआरपी ने कांवड़ स्पेशल ट्रेन में बम होने की फर्जी सूचना देने वाले कांवड़िएं को गिरफ्तार किया है। आरोपी कांवड़िएं ने अन्य यात्रियों से झगड़ा होने पर 112 नंबर पर फोन कर ट्रेन में बम होने सूचना दी थी। 112 नंबर पर आयी कॉल से ट्रेन में बम होने की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। सूचना मिलते ही एसएसपी जीआरपी ददनपाल सहित तमाम अधिकारी स्टेशन पहुंचे। बम निरोधक दस्ते को मौके पर बुलाया गया। ट्रेन के स्टेशन पहुंचते ही बम निरोधक दस्ते ने पूरी ट्रेन की तलाशी ली। लेकिन कहीं कोई बम नहीं मिला। बम नहीं मिलने पर सभी ने राहत की सांस ली।

यात्रियों से विवाद के बाद फैलाई थी अफवाह

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार रात करीब दो बजे दिल्ली से हरिद्वार पहुंचने वाली कांवड़ स्पेशल ट्रेन में सवार एक व्यक्ति ने कंट्रोल रूम को सूचना दी कि ट्रेन में कुछ संदिग्ध लोग हैं और इनके पास बम है। यह लोग ट्रेन में बम रख इसे उड़ाने की योजना बना रहे हैं। सूचना मिलते ही एसएसपी जीआरपी ददनपाल सिंह, एएसपी अरुणा भारती, थानाध्यक्ष जीआरपी अनुज कुमार, थानाध्यक्ष आरपीएफ, बम निरोधक दस्ते, डॉग स्क्वायड और दमकल वाहनों के साथ स्टेशन पहुंच गए। ट्रेन के आते ही प्लेटफार्म नंबर एक पर तमाम कांवड़ियों को उतारकर पूरी ट्रेन की गहनता से तलाशी ली गई। लेकिन कहीं कुछ नहीं मिला।

ट्रेन में बम की सूचना ने उड़ाए पुलिस के होश

इसके बाद बाद पुलिस ने ट्रेन में बम होने की झूठी सूचना देने वाले रिंकू वर्मा निवासी गाजियाबाद को स्टेशन परिसर से गिरफ्तार कर लिया। थाने लाकर की गयी पूछताछ में नशे में धुत रिंकू ने बताया कि ट्रेन में उसकी कुछ लड़कों से कहासुनी हो गई थी। जिसके बाद उन्होंने उसकी पिटाई कर दी थी। उनको सबक सिखाने के लिए उसने ट्रेन में बम होने की फर्जी सूचना कंट्रोल रूम को दी। एसएसपी जीआरपी ददन पाल सिंह ने बताया कि कांवड़ के दौरान ट्रेन में बम होने की सूचना को गंभीरता से लेते हुए ट्रेन के पहुंचते ही गहनता से चेकिंग की गई। लेकिन बम होने की सूचना फर्जी निकली। शराब के नशे में कंट्रोल रूम को फर्जी सूचना देने वाले को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Back to top button