बिहार में 8वीं के बाद पढ़ाई छोड़ चुके बच्चों की सरकार कर रही तलाश, 9वीं में करायेगी एडमिशन…

बिहार सरकार ने 9वीं कक्षा में प्रवेश के लिए एक प्रवेश समारोह-विशेष नामांकन अभियान-2022 की शुरूआत की है. इस अभियान के मुताबिक बिहार के सरकारी स्कूलों में आठवीं की परीक्षा देकर पढ़ाई छोड़ने वाले छात्रों को ढूंढा जाएगा. इसके साथ ही आगे पढ़ाई न करने और प्रवेश न मिलने का अहम कारण क्या है यह भी जाना जाएगा।

इतना ही नहीं नए सिरे से प्रवेश नहीं लेने वाले अभिभावकों को काउंसलिंग दी जाएगी. पढाई का महत्व भी समझाया जाएगा. हर वर्ष आठवीं कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़ने वाले बच्चों को नौवीं कक्षा में प्रवेश दिया जाएगा. गौरतलब है कि 1 जुलाई से बिहार सरकार ने प्रवेश समारोह-विशेष नामांकन अभियान-2022 की शुरूआत कर दी है जो 15 जुलाई तक चलेगा. राज्य के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने राजकीय बाल उच्चतर माध्यमिक विद्यालय राजेंद्रनगर, पटना में अभियान का उद्घाटन किया है. इस कार्यक्रम के अनुसार उनकी मौजूदगी में स्कूल के प्रधानाध्यापक ने 9वीं कक्षा में एक छात्र को प्रवेश भी दिया. शिक्षा मंत्री ने विभिन्न जिलों में इस कार्यक्रम को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए नामांकन रथ भी भेजे हैं.

जानकारी के लिए बता दें कि उन्होंने कहा कि इस बार 18 फीसदी छात्राएं और 17 फीसदी पुरुष छात्र आठवीं के बाद प्रवेश नहीं ले रहे हैं. वह आठवीं कक्षा के बाद स्कूल छोड़ देते हैं. ऐसे में इस अभियान की मदद से ऐसे बच्चों को ढूंढकर निशान लगाकर उन्हें आगे की शिक्षा के लिए प्रेरित किया जाएगा. इतना ही नहीं अपितु शिक्षा मंत्री ने समाज के सभी वर्गों, जनप्रतिनिधियों, शिक्षकों और अभिभावकों से अभियान को सफल बनाने की कामना की है. उन्होंने अधिकारियों को किसी भी हाई स्कूल परिसर में आठवीं कक्षा के छात्रों को नौवीं कक्षा में पढ़ने से वंचित न करने के भी निर्देश दिए.

Back to top button