लाभार्थी को धन उपलब्ध कराने के बजाय ठेकेदारी प्रथा से हो रहा शौचालय निर्माण

वरिष्ठ भाजपा नेता व बलहा विधानसभा संयोजक योगेश प्रताप सिंह ने घटिया शौचालय निर्माण पर अधिकारियों को लिया आड़े हाथ । कहा ठेकेदारी प्रथा से काम करा हो रही शासनादेश की अवहेलना।
सरकार की मंशानुसार सीधे लाभार्थी के खाते में भेजे पैसा वरना मुख्यमंत्री से करेगे मामले की जांच की मांग।
क़ुतुब अंसारी / योगेंद्र मौर्या
मिहींपुरवा (बहराइच) मिहींपुरवा विकास खण्ड अन्तर्गत हो रहे शौचालय निर्माण में अनियमितता   को लेकर क्षेत्र की जनता में काफी आक्रोश है। जिसकी शिकायत मिलने पर भारतीय जनता पार्टी के बलहा विधान सभा संयोजक योगेश प्रताप सिंह ने क्षेत्र में बन रहे शौचालय निर्माण मे हो रहे भ्रष्टाचार को उजागर करते हुये कहा कि सरकार की मंशा है कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत हर घर में शौचालय निर्मित हो जाये जिससे किसी को‌ खुले में शौच न जाना पड़े किंतु जिस तरह अपने विकासखंड में कुछ अधिकारियों व प्रधानो की अोर से लाभार्थियों के खाते में धन‌ न देकर ठेकेदारी प्रथा से जिस प्रकार पीली ईट व दो बोरी सीमेंट से घटिया स्तर पर शौचालय निर्माण कराया जा रहा है उस से जनता के बीच हमारी‌ सरकार की बदनामी हो रही है उन्होने कहा कि मिहींपुरवा विकासखंड में मुख्यरूप से ग्राम बेझा, मोतीपुर, गोपिया व परवानीगौढ़ी ,झाला सहित लगभग दर्जनों गांवो मे शौचालय निर्माण में बडे स्तर पर अनियमितता बरती जा रही है। यदि इस प्रक्रिया को तत्काल सुधार न किया गया तो वह माननीय मुख्यमंत्री से मिल कर मामले की जांच की मांग करेंगे।
क्षेत्र के ग्रामीणो का कहना है। कि शौचालय हेतु जो गड्ढे खोदे गये है। उनमें ईटो की जाली बनाने के बजाय ठेकेदार सीमेंटेड जाली  लगाकर महज खाना पूर्ति कर रहे है। एक तरफ स्वच्छ भारत अभियान के तहत गांव सभा में आये सैकड़ो शौचालयो को ग्राम प्रधान व सचिव खुद न बना कर ठेकेदारो से शौचालय निर्माण करवा रहे है । अौर दूसरी तरफ ठेकेदारो शौचालय निर्माण में मानक व गुणवत्ता को दरकिनार करते हुये सिर्फ अपना लाभ देख रहे है। उक्त भ्रष्टाचार के सम्बन्ध मे पुछे जाने पर खण्ड विकास अधिकारी मिहींपुरवा चंद्रशेखर प्रसाद ने बताया कि शौचालय निर्माण में पूरी पारदर्शिता बरतने का प्रयास किया जा रहा है। यदि कोई लाभार्थी शौचालय निर्माण के संदर्भ मे शिकायत करेगा तो मौके पर जाकर सम्बंधित के विरुद्ध कार्यवाही भी की जायेगी।
Back to top button
E-Paper