जौनपुर : बुढ़िया माई मंदिर के सामुदायिक शौचालय में हमेशा लटका रहता है ताला

सुईथाकला जौनपुर। एक तरफ जहां देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ पूरे देश और प्रदेश को खुले में शौच मुक्त करना चाहते हैं ठीक वहीं विकासखंड अंतर्गत बुढ़िया माई मंदिर  परिसर के सामुदायिक शौचालय में हमेशा  ताला लटका रहता है। प्रशासन की घोर लापरवाही और उदासीनता के चलते प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन और खुले में शौच मुक्त रखने की मंशा तार-तार हो रही है। गौरतलब है कि बुढ़िया माई मंदिर एक प्रसिद्ध और ऐतिहासिक मंदिर है जहां लाखों नव दंपति सिंदूर चढ़ाने और अपनी मन्नतें लेकर यहां आते हैं और कड़ाही भी चढ़ाते हैं।

यह मंदिर 64 कोस में प्रसिद्ध है इसलिए यहां की कुलदेवी को  मां फूलमती को माता  चौंसठी के नाम से भी जानते हैं।प्रशासन को उनकी इज्जत और लोक लाज की भी कोई परवाह नहीं है। प्राप्त जानकारी के अनुसार  यहां के सामुदायिक शौचालय में हमेशा ताला लटका रहता है जिससे आने वाले श्रद्धालुओं और दर्शनार्थियों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ता है। अब इस असमंजस की स्थिति में आस्था के केंद्र पर आने वाले श्रद्धालुओं की समस्या ‘चांदनी रात में बरसात’ वाली कहावत चरितार्थ कर रही है। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री द्वारा राष्ट्र और प्रदेश को विकसित बनाने की परिकल्पना को प्रशासन पलीता लगाने का काम कर रहा है।बरउद ग्राम सभा के प्रधान राम लखन यादव का कहना है कि पूर्व प्रधान द्वारा इस सामुदायिक शौचालय का निर्माण कराया गया था। बाहर से शौचालय का निर्माण कार्य पूर्ण है किंतु अंदर से कोई सुविधा नहीं है।

ग्राम प्रधान के अनुसार पूर्व प्रधान द्वारा बनवाए गए शौचालय की फाइल भी उन्हें नहीं मिली। ग्राम प्रधान  ने बताया कि उन्होंने अपनी जेब से ₹60000 खर्च किया है। उपरोक्त मामले के बारे में संबंधित अधिकारियों से फोन पर कॉल करके जानकारी लेने की कोशिश की गई किंतु संपर्क नहीं हो सका।

Back to top button