कानपुर : झमाझम बारिश से हुआ जनजीवन अस्त-व्यस्त

मुख्य सड़कों से लेकर गलियां में जलभराव का दफ्तर से लेकर बाजारों तक पर पड़ा असर।

कानपुर। कानपुर में सुबह झमाझम बारिश से मौसम सुहाना हो गया। झमाझम बारिश से कुछ ही देर में ऐसी स्थिति हो गई कि शहर के अधिकांश मार्गों से निकलना मुश्किल हो गया। मुख्य सड़कों से लेकर गलियां तक लबालब हो गईं। बारिश और जलभराव का दफ्तर से लेकर बाजारों तक पर असर पड़ा। जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। वहीं लोगों के दफ्तर जाने का समय था इसलिए थोड़ी दिक्कत हुई।
जूही खलवा पुल एक बार फिर भर गया। इससे अफीम कोठी से हमीरपुर रोड पर उत्तर से दक्षिण इलाकों की कनेक्टिविटी ही बंद हो गई। नगर निगम की टीम यहां फौरन पहुंच गई और जेनरेटर के साथ पंप लगाया ताकि जल निकासी कराई जा सके। हालांकि बारिश इतनी तेज थी कि पंप ही डूब गया। इसे मजदूरों ने किसी तरह निकाला और दूसरी जगह से पाइप के जरिए पानी खींचने का का शुरू हुआ। इससे पहले पुल के दोनों तरफ बैरिकेडिंग लगा दी गई थी ताकि पुल की तरफ कोई वाहन न जाने पाएं।

  • डिवाइडर पर चढ़कर निकले लोग
    सर्वोदय नगर,गोविंद नगर,बर्रा, किदवई नगर और मोती झील में इतना पानी भरा कि लोगों को डिवाइडर पर चढ़कर निकलना पड़ा। दफ्तरों में दो घंटे तक सन्नाटा पसरा रहा। बारिश की वजह से कर्मचारी पहुंच ही नहीं पाए। वहीं शहर में बहुत लोगों ने भीगकर भी आनंद उठाया। बैराज की तरफ सैकड़ों लोग पहुंच गए जहां गंगा के सामने भीगते हुए सेल्फी भी ली।
  • नरवल थाना परिसर तालाब में तब्दील
    झमाझम बारिश के बाद नरवल थाना परिसर तालाब में तब्दील हो गया। यहां बैरकों सहित दफ्तरों में भी पानी घुस गया। जिसे निकालने में होमगार्डों और चौकीदारों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। इस दौरान फरियादियों को थाने तक पहुंचने में काफी दिक्‍कतों का सामना करना पड़ा। जलभराव के कारण पुलिस स्‍टाफ को भी थाने से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। नरवल इंस्पेक्टर रामबाबू सिंह ने बताया कि थाना परिसर तक बने नाले की सफाई के लिए तहसील प्रशासन के अधिकारी से बात की गई है। शीघ्र ही नालों की सफाई कराई जाएगी।
Back to top button