कानपुर : -प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापिका दूसरी जगह संबद्ध, चार सालो से विद्यालय में नहीं प्रधानाध्यापक

घाटमपुर। तहसील क्षेत्र के जहांगीराबाद गांव स्थित मॉडल प्राथमिक विद्यालय में अधिकारियों की लापरवाही का एक मामला सामने आया है। यहां पर तैनात प्रधानाध्यापिका को अधिकारियों ने चार साल पहले दूसरी जगह संबद्ध कर दिया था। पर यहां से उन्हें कार्यमुक्त नही किया गया। जिसके चलते  यहां पर किसी ने चार सालों से प्रधानाध्यापिका का चेहरा तक नही देखा है। ग्रामीणों ने कई बार अधिकारियों से मामले की शिकायत की है। पर अधिकारी इस बात से अनजान बने बैठे है। 

पतारा विकासखंड के जहागीराबाद गांव स्थित मॉडल प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापिका की तैनाती है। पर वो कभी स्कूल नहीं आती है। मामले की जानकारी करने दैनिक भास्कर टीम जब जहागीराबाद गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय पहुंची तो पता चला कि यहां पर मॉडल प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक समेत पांच शिक्षक व दो शिक्षा मित्रों की तैनाती है। यहा पर जानकारी हुई की अधिकारियों ने प्रधानाध्यापिका  तृप्ति दीक्षित को बीते चार वर्ष पहले राजकीय बाल गृह(बालिका) कानपुर नगर में बच्चो को पढ़ाने के लिए संबद्ध कर दिया था। पर उन्हें यहां से कार्यमुक्त नही किया है, जिसके चलते विद्यालय में उनकी तैनाती तो है। पर वह कभी स्कूल नहीं पहुंचती है। यहां प्राथमिक विद्यालय में लगभग 110 छात्र व 122 छात्राएं है। जिन्हे यहां पर तैनात चार टीचर व दो शिक्षा मित्र पढ़ाते है। स्कूल में पढ़ने वाले छात्र व छात्राओं का कहना है कि उन्होंने कभी प्रधानाध्यापक को नहीं देखा है। वही जहागीराबाद गांव निवासी रमेश कुमार, अतीक अहमद ने बताया कि उनके बच्चे बीते चार वर्षों से विद्यालय में पढ़ रहे है। पर उन्होंने कभी भी यहां पर तैनात प्रधानाध्यापक तृप्ति दीक्षित को नहीं देखा है। मामले में बेसिक शिक्षा अधिकारी सुरजीत सिंह ने बताया कि उन्हें वहां कार्यमुक्त क्यों नही किया गया। इसकी जांच करवाएंगे।

Back to top button