LIVE : 26 घंटों की पूछताछ के बाद मंत्री पार्थ चटर्जी गिरफ्तार, अर्पिता भी हिरासत में; लेकिन पिक्चर अभी बाकी है…

West Bengal SSC Scam : पश्चिम बंगाल में शिक्षा घोटाले की जांच अब मंत्रियों तक पहुंच गई है। पश्चिम बंगाल सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शनिवार सुबह गिरफ्तार कर लिया है। मंत्री पार्थ चटर्जी के घर शुक्रवार से ED की टीम जांच कर रही थी। लंबी पूछताछ के बाद ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार कर लिया। शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी मानी जाने वालीं अर्पिता मुखर्जी के घर पर भी ED का छापा पड़ा था। अर्पिता को भी हिरासत में लिया गया है।

26 घंटों की पूछताछ के बाद ED ने किया गिरफ्तार
ईडी के अधिकारियों ने कथित शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में मंत्री पार्थ चटर्जी से शुक्रवार को रातभर पूछताछ की थी।  कल सुबह आठ बजे से उनसे पूछताछ शुरू की, जो की शनिवार को भी जारी रही। 26 घंटों की पूछताछ के बाद ममता बनर्जी सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार कर लिया।

मेडिकल के लिए ले जा रहे है
जानकारी के मुताबिक पार्थ चटर्जी को गिरफ्तारी के बाद मेडिकल के लिए ले जाया जा रहा है। पार्थ को कोलकाता में CGO कॉम्प्लेक्स ले जाया जाएगा। आज सुबह के समय पार्थ चटर्जी ने स्वास्थ्य खराब होने का हवाला दिया है। इसके बाद दो डॉक्टरों की टीम भी मौके पर पहुंची थी।

अर्पिता मुखर्जी भी हिरासत में
शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी मानी जाने वालीं अर्पिता मुखर्जी के घर पर भी ED का छापा पड़ा था। उनके घर से 20 करोड़ के करीब नकदी मिली थी। ताजा रिपोर्ट के अनुसार, ईडी ने अर्पिता मुखर्जी को भी हिरासत में लिया है। उनसे भी पूछताछ की जा रही है। अर्पिता पार्थ चटर्जी की कानूनी सलाहकार बताई जा रही हैं। इसके अलावा उनके घर से 20 कीमती मोबाइल फोन, सोना, विदेशी मुद्रा, जमीन के दस्तावेज बरामद बरामद हुए हैं।

ईडी ने कई और ठिकानों पर भी मारी रेड
आपको बता दें कि जब यह कथित शिक्षक भर्ती घोटाला हुआ था, तब चटर्जी राज्य के शिक्षा मंत्री थे। प्रवर्तन निदेशालय इस घोटाले में कथित रूप में शामिल लोगों के खिलाफ धनशोधन संबंधी पहलू की जांच कर रहा है। ईडी ने अर्पिता के अलावा कई और ठिकानों पर भी रेड मारी है। इस लिस्ट में माणिक भट्टाचार्य, आलोक कुमार सरकार, कल्याण मॉय गांगुली जैसे नाम भी शामिल हैं। इन सभी का बंगाल शिक्षा भर्ती घोटाले में नाम सामने आया था।

 

Back to top button