बंदरों के आतंक से निजात के लिए स्थानीय निवासियो ने किया विरोध प्रदर्शन

भास्कर समाचार सेवा

वृन्दावन । वृंदावन के व्यस्ततम चौराहे चुंगी चौराहे पर वृंदावन के स्थानीय निवासियों द्वारा एक भारी विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य रूप से बंदरों के आतंक और विगत दिनों पूर्व टमटम से 4 वर्षीय श्रद्धालु बालक की मृत्यु हो जाने को लेकर विरोध का प्रदर्शन किया गया। जिसमें स्थानीय लोगों ने सर्वप्रथम नगर निगम के अधिकारियों से संपर्क साधा, लेकिन जब नगर निगम के अधिकारी वहां मौजूद ना मिले, तो स्थानीय निवासियों और व्यापारी वर्गों ने वृंदावन के व्यस्ततम चौराहे चुंगी चौराहे पर भारी विरोध प्रदर्शन किया। जिसके चलते जाम की समस्या उत्पन्न हो गई। वही वृंदावन कोतवाली प्रभारी सूरज प्रकाश शर्मा के समझाने पर स्थानीय नागरिक एवं व्यापारी वर्ग के लोगों ने सड़क पर किए विरोध प्रदर्शन खत्म कर वृंदावन कोतवाली पहुंचे। जहां पर उन्होंने अपनी समस्याओं से अवगत कराते हुए कोतवाली प्रभारी सूरज प्रकाश शर्मा को ज्ञापन सौंपा। वरिष्ठ नेता योगेश द्विवेदी ने कहा कि वृंदावन में कई गम्भीर समस्याओं ने जन्म ले लिया है। कान्हा की नगरी श्री धाम वृंदावन समस्याओं की बन रही है और इन समस्याओं का मुख्य कारण प्रशासन के द्वारा बरती जा रही लापरवाही है। प्रशासनिक अधिकारी वृंदावन में कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिसके चलते बंदरों का आतंक बढ़ रहा है और ई रिक्शा चालकों की मनमानी। वही नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के चेयरमैन धनेंद्र अग्रवाल बॉबी ने कहा कि वृंदावन में सभी हिंदूवादी संगठन बंदरों के आतंक से बचाव के लिए हर मंगलवार और शनिवार को हनुमान चालीसा का पाठ कर अंतिम रूप से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। अगर शासन प्रशासन के द्वारा बंदरों के आतंक को लेकर कोई उपाय नहीं निकाला गया, तो यह आंदोलन व विरोध प्रदर्शन इसी तरीके से चलता रहेगा। वहीं उन्होंने कहां की वृंदावन में ई-रिक्शा चालको पर भी शासन-प्रशासन को लगाम कसनी चाहिए।

Back to top button