ट्रांसफर-पोस्टिंग को लेकर मायावती ने सरकार को घेरा, कही ये बड़ी बात…

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में बीते दिनों हुए स्थानांतरण को लेकर सियासत गरमाई हुई है। इसे लेकर विपक्षीय पार्टियां लगातार सरकार को घेर रही हैं। इसी मामले में रविवार को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने सरकार को पर हमला बोला है।

प्रदेश की ताजा चर्चित राजनीतिक उठापटक, सरकारी भ्रष्टाचार एवं कानून व्यवस्था के बिगड़ते हालात का संज्ञान लेते हुए मायावती ने कहा कि भाजपा सरकार में काफी पहले से ही अन्तर्कलह व जातिवादी आंतरिक बिगाड़ की स्थिति है, जिससे शासन व्यवस्था पूरी तरह से चरमराई हुई है। आम जनहित काफी प्रभावित है।

ट्रांसफर-पोस्टिंग वास्तव में एक धंधा बन गया है । जिसका खुलासा अन्ततः सरकार को मजबूर होकर खुद ही करना पड़ा। हालांकि इस खेल में बड़ी मछलियों को बचाने का प्रयास अभी भी लगातार जारी है। यूपी स्तर पर जारी भारी भ्रष्टाचार से त्रस्त जनता ने अब यह भी देख लिया कि सरकारी ट्रांसफर पोस्टिंग में किस प्रकार का भ्रष्टाचार का खेल हुआ है।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में जातिवाद, साम्प्रदायिकता भ्रष्टाचार तथा नेताओं की आपसी घमासान जनहित व विकास न जाने कब तक कितना लम्बा और प्रभावी होता रहेगा। इनके विकास के दावे का यह हाल है कि नया बहुचर्चित बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे चार दिन में ही धंस जाना खास चर्चा में हैं। ऐसे में लोगों को व्यापिक जनहित, सामाजिक समेत आर्थिक उन्नति के लिए बसपा ही एक मात्र विकल्प बचा है।

उल्लेखनीय है कि मायावती ने देश के अलग-अलग राज्यों में पार्टी संगठन को गति और मजबूती देने के क्रम में रविवार को गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ बैठक की। वहां कि, राजनीतिक, जातीय और साम्प्रदायिक हालात समेत चुनावी तैयारियों और पार्टी संगठन समेत जनाधार को बढ़ाने के बारे में गहन समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने इन पांच राज्यों में मिशनरी सोच वालों पर ज्यादा भरोसा करने की नसीहत दी है।

Back to top button