मानसिक रूप से कमजोर पत्नी को घर से निकाला

तीन वर्षो से श्री राधिका चैरिटेबल ट्रस्ट,राधिका अपना घर महिला आश्रम में रह रही है

भास्कर समाचार सेवा

मथुरा। शादी एक पवित्र बंधन है जिसमें सात जन्मों का साथ बताया गया है। लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं जो सिर्फ लडकी की धन दौलत से प्यार करते हैं अगर लडकी कहीं मानसिक कमजोर वाली मिल जाती है तो उसे ससुराल पक्ष द्वारा प्रताड़ित किया जाता है। ऐसी अनेकों कहानियां आपको सुनने व देखने को मिल जायेगी। राधाकुंड रोड स्थित मघेरा हनुमान मंदिर के पास श्री राधिका चेयरटेबल ट्रस्ट ,राधिका अपना घर महिला आश्रम में रह रही 28 वर्षीय साक्षी ने बताया कि मेरी शादी हिंदू रितिवाज से रवि पुत्र हंसराज (काल्पनिक नाम) निवासी कानपुर से नौ वर्ष पूर्व हुई थी। साक्षी के पति कानपुर में प्राइवेट कार्य करते हैं। साक्षी के दो लडकियां हैं जिसकी बड़ी लडकी पिता रवि के साथ रह रही है।और छोटी लडकी साक्षी के साथ है। साक्षी थोड़ी मानसिक रूप से कमजोर है जिसके लिए पति ने तीन साल पहले घर से निकाल दिया। भटकते भटकते काजल वृंदावन आ गई। उसको अपने परिवार की बहुत याद आती है। लेकिन मुझसे कोई मिलने नही आता है।और न ही मुझे बड़ी लडकी से मिलने देते हैं। जब कभी अपने घर जाती हूं तो दरवाजे से ही भगा देते हैं। मुझे अपने बच्चे की बहुत याद आती है। फिलहाल राधिका अपना घर में रह रही हूं। यहां पर कोई भी परेशानी नहीं है। बृज में रह कर बहुत ही सुकून मिल रहा है।

Back to top button