मूसेवाला हत्याकांड़ : गनमैन-ग्रेनेड से उड़ाने की अधूरी रह गई साजिश, जानिए क्यों

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला को गनमैन समेत कत्ल करने की साजिश रची गई थी। अगर मूसेवाला के साथ सिक्योरिटी होती तो पहले हथियारों से अटैक किया जाता। जरूरत पड़ती तो मूसेवाला की गाड़ी ग्रेनेड से उड़ा दी जाती। यह सनसनीखेज खुलासा दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के पकड़े प्रियवर्त फौजी ने पूछताछ में किया। वहीं मूसेवाला पर हमले के लिए हथियारों की ‘डेड ड्रॉप’ डिलीवरी हुई थी। जिसमें हथियार लेने और देने वाला एक-दूसरे को नहीं जानता। यह हथियार पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए भेजे जाने की आशंका है।

घर के भीतर मूसेवाला हत्या की रची गई थी साजिश

मूसेवाला की उनके घर के भीतर ही हत्या की साजिश रची गई थी। इसके लिए शूटर्स फैन बनकर भी उनके घर पहुंचे। गिफ्ट देकर भी साथी भेजे गए। हालांकि हर बार गेट पर सिक्योरिटी आदमी और गिफ्ट की चेकिंग करती थी। ऐसे में हथियार अंदर ले जाने संभव नहीं थे।

इसके बाद घर के अंदर ग्रेनेड फेंकने की साजिश बनी। हालांकि मूसेवाला उसकी चपेट में आएगा या नहीं?, इससे शूटर्स आशंकित थे, इसलिए यह प्लान भी बदल दिया गया। पुलिस वर्दी में घर में घुसकर हत्या की भी साजिश थी लेकिन नेम प्लेट न होने की वजह से इसे बदल दिया गया। बिना नेम प्लेट गेट पर ही सिक्योरिटी के उन्हें रोकने और पहचानने का खतरा था।

फौजी बैखौफ बिना मास्क घूमता था

मूसेवाला की हत्या के बाद शार्प शूटर्स हरियाणा में रुके। इसके बाद गुजरात के मुंद्रा पोर्ट के नजदीक बस्ती में मकान किराए पर लिया। यहां पहले सभी मास्क पहनकर घूमते थे। हालांकि बाद में हरियाणा के सोनीपत का शार्प शूटर प्रियवर्त फौजी बिना मास्क घूमने लगा। तब तक उसके साथ शार्प शूटर अंकित सेरसा, दीपक मुंडी और कशिश भी थे। उन्होंने रोका भी लेकिन फौजी बेपरवाह हो गया। जिस वजह से अंकित सेरसा और दीपक मुंडी वहां से चले गए।

पुलिस पूछताछ में 6 शूटर्स एक साथ नहीं लिए गए

दिल्ली पुलिस की पूछताछ में पता चला कि सभी 6 शूटर्स एक साथ नहीं लिए गए। 2-2 शूटर्स की अलग-अलग टीम ली गई थी। जो एक-दूसरे को ज्यादा नहीं जानते थे। उन्हें कहा गया था कि कोई ‘बड़ा काम’ करना है। सिर्फ प्रियवर्त फौजी को पता था कि मूसेवाला की हत्या करनी है। हालांकि फौजी को भी अंदाजा नहीं था कि मूसेवाला की हत्या पर इतना बवाल हो जाएगा। जिससे पुलिस लगातार उनका पीछा करती रहेगी।

मूसेवाला हत्या में 6 शूटर्स के शामिल होने का दावा

मूसेवाला की हत्या में दिल्ली पुलिस ने 6 शूटर्स के शामिल होने का दावा किया है। जिनमें प्रियवर्त फौजी और कशिश उर्फ कुलदीप पकड़े जा चुके हैं। अब जगरूप रूपा, मनु कुस्सा, अंकित सेरसा और दीपक मुंडी फरार हैं। वहीं पंजाब पुलिस ने 4 शार्प शूटर्स का दावा किया है। जिनमें जगरूप रूपा, मनु कुस्सा, प्रियवर्त फौजी और अंकित सेरसा का नाम है। हालांकि पंजाब पुलिस अभी तक किसी को भी नहीं पकड़ सकी।

Back to top button