इमामबारगाहों व अजाखानों में हजरत अली की शहादत की बयां

6 मोहरर्म हज़रत इमाम हुसैन के बेटे अली अकबर की शहादत से मंसूब

भास्कर समाचार सेवा

मेरठ। छः मोहरर्म यह तारीख हज़रत इमाम हुसैन के बेटे हजरत अली अकबर की शहादत से मन्सूब है। आज सभी अज़ाखानों और इमाम बारगाहों में हुई मजलिसों में हज़रत अली अकबर की शहादत बयां की गयी।

इमाम बारगाह तक़ी हुसैन बाज़ार पेड़ामल से कदीमी जुलजनाह का जुलूस शाम 5:00 बजे कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बड़ी अकीदत के साथ परम्परागत बरामद हुआ। प्रारम्भ में अन्जुमन इमामिया के नौहेख्वान वाजिद अली गप्पू, चांदमिया, मीसम, रविश ने पुरसौज़ नौहेख्वानी की। रविश ने ‘ये ना कहो तुम कभी सिर्फ हमारे हैं हुसैन, हिन्दु मुसलमान क्या सबके हैं प्यारे हुसैन’। ये नौहा पढ़कर सौहार्द का पैगाम दिया। जुलूस मौहल्ला जाहिदियान इमामबारगाह तथा इमामबारगाह बीरूकुआं पहुंचा तो वहां मौजूद हिन्दू समुदाय के लोगों ने सम्मानजनक स्वागत किया। जुलूस बुढ़ाना गेट से निर्धारित रास्तों से होता हुआ वापस देर रात्री इसी इमामबारगाह पेड़ामल पहुंचकर सम्पन्न हुआ। जुलूस में अंजुमन दस्तये हुसैनी के साहिबे बयाज़ हुमायू अब्बास ताबिश, गिज़ाल रज़ा, हिलाल आब्दी, दिलदार जै़दी, इरफान हुसैन ने तथा तंजीम-ए-अब्बास के सफदर अली, अतीक-उल-हसन, काशिफ दारेन, ज़िया जै़दी ने पुरसौज़ नौहेख्वानी करके हुसैनियत का पैगाम दिया। जुलूस के आयोजक सज्जाद रिज़वी रहें। मोहर्रम कमेटी के संयोजक अलहाज़ सैयद शाह अब्बास सफवी, हामिद अली जमाल, मीडिया प्रभारी मौहर्रम कमेटी अली हैदर रिज़वी, हाजी शमशाद अली, नियाज़ हुसैन गुड्डू, हसन मौहम्मद, हैदर अब्बास जुलूस की व्यवस्था सम्भाले हुये थे। जुलूस में बड़ी संख्या में हुसैनी सौगवार शरीक रहें।

जैदी फार्म में जुलूस
दरबारे हुसैनी जै़दी फार्म में भी मौलाना नदीम असगर बनारस ने अपनी तकरीर में हज़रत अब्बास की शहादत बयां की। इसके उपरान्त दिलबर जै़दी के संयोजन में अलम-ए-मुबारक हजरत-ए-अब्बास का जुलूस परम्परागत बरामद हुआ। नौहे सुनकर हुसैनी सौगवारों की आंखें पुरनम हो गयी। जुलूस पुरानी कोठी से होता हुआ रईस हुसैन के अज़ाखाने जै़दी चौक पहुंचकर सम्पन्न हुआ। जुलूस में शहजाद जै़दी सहित बड़ी संख्या में हुसैनी सौगवार शामिल रहें। इसी क्रम में एल.ब्लॉक लोहिया नगर स्थित नियाज़ फातमा के अज़ाखाने से 3 बजे जुलजनाह अलम-ए-मुबारक बरामद होकर इमामबारगाह अबू तालिब पहुंचा, जिसमें अंजुमन जुल्फिकारे हैदरी ने मातम व नौहेख्वानी की।

7 मोहर्रम को बरामद होगा जुलूस ए जुलजुनाह
मौहर्रम कमैटी के मीडिया प्रभारी अली हैदर रिज़वी ने बताया, सात मौहर्रम को जुलूस-ए-जुलजनाह छत्ता अली रजा वैली बाजार से शाम 6 बजे तथा जै़दी फार्म, राम बाग कालोनी सैयद बाकर जै़दी के अज़ाखाने से मजलिस के बाद 4 बजे जुलूस-ए-अलम बरामद होगा। 

Back to top button