नेशनल हेराल्ड केस : हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नहीं डरते, कर लें जो करना है…राहुल का तीखा वार

नेशनल हेराल्ड केस में जारी ED की जांच के दौरान यंग इंडिया के दफ्तर को सील किए जाने के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी है। राहुल ने कहा- हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से डरते नहीं है। उन्हें जो करना है कर लें। हमारा काम संविधान की रक्षा के लिए लड़ना है। देश के सम्मान के लिए लड़ना है। यह जंग जारी रहेगी। राहुल ने कहा- अब सत्याग्रह नहीं अब रण होगा।

राहुल के बयान पर भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा- देश का कानून सबके लिए एक है। वह न कांग्रेस अध्यक्ष के लिए बदल सकता है और न ही कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष के लिए। वे भारत के कानून से भिड़ना चाहते हैं। न उन्हें कानून से रण करने दिया जाएगा न ही RUN करने (भागने) दिया जाएगा।

बुधवार को सील हुआ था यंग इंडिया का दफ्तर

नेशनल हेराल्ड केस में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बुधवार को दिल्ली की हेराल्ड बिल्डिंग में स्थित यंग इंडिया कंपनी का ऑफिस सील कर दिया था। मनी लॉन्ड्रिंग केस में जांच एजेंसी ने यह कार्रवाई की। यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का ऑफिस सील होने के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी अपना कर्नाटक दौरा छोड़कर दिल्ली लौट आए थे।

मंगलवार को ही ED की टीम ने सुबह से देर शाम तक नेशनल हेराल्ड के दिल्ली, मुंबई और कोलकाता समेत 16 ठिकानों पर छापेमारी की थी। यह कार्रवाई सोनिया और राहुल से पूछताछ के बाद की गई थी।

जानिए नेशनल हेराल्ड केस क्या है?
नेशनल हेराल्ड केस का मामला सबसे पहले भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने 2012 में उठाया था। अगस्त 2014 में ED ने इस मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया। केस में सोनिया गांधी, राहुल गांधी और कांग्रेस के ही मोतीलाल वोरा, ऑस्कर फर्नांडीज, सैम पित्रोदा और सुमन दुबे को आरोपी बनाया गया था।

 

Back to top button