नवीन कुमार को मिली अब सर कलम करने की धमकी

भास्कर ब्यूरो
नई दिल्ली। भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थक उदयपुर के कन्हैयालाल की निर्मम हत्या के बाद बुधवार को भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली इकाई के पूर्व मीडिया प्रमुख नवीन कुमार जिंदल को सिर कलम करने की धमकी दी गई है।

नवीन कुमार ने बताया कि मेरी जान खतरे में है। उन्होंने बुधवार को स्वयं और परिवार के सदस्यों की सुरक्षा की मांग की और दावा किया कि उन्हें ई-मेल के जरिये जान से मारने की धमकी दी जा रही है और साथ ही उदयपुर में ‘सिर कलम’ करने की घटना का वीडियो भेजा जा रहा है। जिंदल को भाजपा ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ कथित आपत्तिजनक ट्वीट करने पर बर्खास्त कर दिया था।

जिंदल ने कहा ‘‘सुबह करीब छह बजकर 45 मिनट पर मुझे तीन ई-मेल मिले जिनसे उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के वीडियो भी संलग्न थे। मुझे धमकी दी गई है कि इसी तरह का हश्र मेरा और मेरे परिवार के सदस्यों का भी होगा।” उन्होंने कहा, ‘‘यह पहली धमकी नहीं है। मुझे पिछले एक महीने से सोशल मीडिया, फोन कॉल और मैसेज के जरिये लगातार धमकी मिल रही है लेकिन दिल्ली पुलिस मेरी सुरक्षा मजबूत नहीं कर रही है जबकि मैं करीब आधे दर्जन बार इस संबंध में पुलिस आयुक्त सहित कई अधिकारियों को लिख चुका हूं।”

उल्लेखनीय है कि पैगंबर मोहम्मद पर कथित टिप्पणी करने को लेकर नवीन कुमार जिंदल को भाजपा बर्खास्त कर चुकी है। वह भाजपा की दिल्ली इकाई के मीडिया प्रकोष्ठ के अध्यक्ष थे। पार्टी ने वहीं, राष्ट्रीय प्रवक्ता नुपुर शर्मा को इसी मामले में निलंबित किया है। जिंदल ने ट्वीट किया, ‘‘आज सुबह क़रीब 6:43 बजे मुझको तीन ईमेल आयी है, जिसमें उदयपुर में भाई कन्हैया लाल की गर्दन काटने का वीडियो संलग्न करते हुए मेरी और मेरे परिवार के लोगों की भी इसी तरह गर्दन काटने की धमकी दी गई है। मैंने पीसीआर को सूचना दे दी है। दिल्ली पुलिस इसपर तुरंत संज्ञान ले।” इसके साथ ही उन्होंने धमकी भरे ई-मेल के स्क्रीन शॉट भी साझा किए हैं।

गौरतलब है कि पिछले साल सितंबर में जिंदल की वाई प्लस सुरक्षा हटा ली गई थी। उन्होंने बताया कि मौजूदा समय में उन्हें केवल दो पुलिस कर्मियों की सुरक्षा मुहैया कराई गई है और उदयपुर की घटना के बाद ‘‘वह वास्तविक खतरा” महसूस कर रहे हैं। जिंदल ने कहा, ‘‘मैं पत्नी और मां के साथ रह रहा हूं। मैंने धमकी मिलने के बाद बच्चों को कहीं और स्थानांतरित कर दिया है। मुझे अकसर बाहर जाना होता है और तब कोई भी हादसा होने का खतरा रहता है क्योंकि एक पुलिस कर्मी ही सुरक्षा में साथ रहता है जबकि दूसरा घर की सुरक्षा में तैनात रहता है।”

गौरतलब है कि मंगलवार को राजस्थान के उदयपुर शहर के धानमंड़ी इलाके में दो लोगों ने इस्लाम के कथित अपमान का बदला लेने का दावा करते हुए कन्हैया लाल नामक दर्जी का ‘सिर कलम’ कर दिया था और घटना का वीडियो ऑनलाइन जारी किया था।

Back to top button