उच्च प्राथमिक विद्यालय नॉर्मल में 75 बच्चों पर केवल एक शिक्षक

कक्षा 1 से 8 तक का है विद्यालय

भास्कर समाचार सेवा

सिकन्दराबाद। प्रदेश सरकार बच्चों को स्कूल भेजने के लिए अभियान चला रही है।लेकिन शिक्षा को ग्राउंड पर जाकर देखें तो शिक्षा का बुरा हाल है। प्रदेश में शिक्षकों की कमी है। सिकंदराबाद नगर क्षेत्र के उच्च प्राथमिक विद्यालय नॉर्मल में 75 बच्चों को अकेले प्रधानाध्यापक शिक्षा दे रहे हैं।
उत्तर प्रदेश सरकार शिक्षा को बेतहर बनाने के लिये पूरे जोर लगा रही है।शिक्षा के लिये गाँव गाँव शहर शहर विशेष अभियान चला कर शिक्षा के प्रति लोगों को जागरूक किया जा रहा है। प्रदेश में सरकारी स्कूलों में कोरोना काल के बाद छात्रों की संख्या में वृद्धि हुई है। जुलाई माह बीत चुका लेकिन अभी तक ड्रेस व किताबों का पूरी तरीके से इंतजाम नही हुआ है। वही बच्चो की पढ़ाई के लिये बात करे तो नगरीय क्षेत्रों में अध्यापकों की कमी चल रही है।नगर के उच्च प्राथमिक विद्यालय नॉर्मल में कक्षा 1 से कक्षा 8 तक पढ़ाई कराई जा रही है।लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि वहां 75 बच्चों को एक अकेले प्रधान अध्यापक ही शिक्षा दे रहे हैं। ऐसा लगता है कि बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ की जा रही है । एक अध्यापक 75 बच्चों को किस प्रकार से पढ़ाई करा सकता है। यह सोचनीय है। इस सम्बंध में पूछने पर बीएसए वीरेन्द्र कुमार शर्मा ने बताया कि मामला संज्ञान में है, जल्द ही विद्यालय में शिक्षकों की व्यवस्था की जाएगी।

Back to top button