पौड़ी : समीक्षा बैठक में कैबिनेट मंत्री ने अधिकारियों को दिए ये दिशा-निर्देश

दैनिक भास्कर समाचार सेवा

पौड़ी। कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र से संबंधित शिक्षा विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग के कार्यों से संबंधित समीक्षा बैठक आयोजित की गई। मंत्री ने दोनों विभागों को शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने और क्रियान्वयन संबंधित प्रक्रिया में सुधार करने के निर्देश दिए, जिससे समाज शिक्षित और स्वस्थ रहे।

शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए मंत्री ने शिक्षा अधिकारियों को श्रीनगर विधानसभा के ऐसे विद्यालय, जहां पर भवन की छत क्षतिग्रस्त हो, चारदीवारी की व्यवस्था नहीं है या उसमें सुधार की जरूरत है, उनका तत्काल प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। सभी विद्यालयों में पर्याप्त शिक्षकों की तैनाती करने, बहुत बीमार या दिव्यांग शिक्षकों की अनिवार्य सेवानिवृत्ति की प्रक्रिया प्रारंभ करने, जिन भोजन माताओं के बच्चे उसी विद्यालय में नहीं पढ़ रहे हैं, उनकी सूची तैयार करने आदि के संबंध में निर्देश दिए।

शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्रों की योजनाओं में हो सुधार: रावत

उन्होंने शिक्षक दिवस के अवसर पर बेहतर शिक्षण कार्य करने वाले शिक्षकों को स्थानीय जनप्रतिनिधियों के माध्यम से सम्मानित करने के निर्देश दिए। इसी तरह स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान मंत्री ने स्वास्थ्य अधिकारियों को विभिन्न अस्पतालों में यदि स्टाफ अथवा अन्य संसाधनों की किसी प्रकार की कमी हो तो उसकी डिमांड प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

साथ ही उन्होंने जनपद को टीवी मुक्त करने तथा लोगों को सरकार की ओर से दी जा रही विभिन्न सुविधाओं को अच्छी तरह से प्रदान करने तथा बीडीसी, जिला पंचायत तथा ग्राम पंचायत की बैठकों में सरकार द्वारा दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी प्रदान करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने मंत्री द्वारा दिए गए निर्देशों को दोनों विभागों को अनुपालन करने तथा उसकी अनुपालन आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पांडे, अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा महावीर सिंह बिष्ट, अपर निदेशक स्वास्थ्य गढ़वाल मंडल डॉ. भारती राणा, अपर जिलाधिकारी ईला गिरी, जिला विकास अधिकारी पुष्पेंद्र सिंह चौहान, मुख्य शिक्षा अधिकारी डॉ. आनंद भारद्वाज सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Back to top button