कलक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों व ताजियेदारों के साथ शांति समिति की हुई बैठक

भास्कर समाचार सेवा

अलीगढ़। जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में गुरुवार को श्रावण मास, मोहर्रम, रक्षाबंधन एवं राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस पर कानून व्यवस्था को बनाये रखने एवं आपसी मेल-जोल एवं भाईचारे के साथ त्याहारों को मनाये जाने के सबंध में पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों, विभिन्न समुदायों के संभ्रांत नागरिकों के साथ शांति समिति की बैठक की। इस अवसर पर उन्होंने आजादी का अमृृत महोत्सव के तहत 11 से 15 अगस्त तक हर घर पर ध्वज संहिता के अनुसार तिरंगा फहराये जाने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि रीति-रिवाज एवं परम्परा के न हटें। ऐसा कोई कार्य न करें जिससे किसी भी समुदाय की भावनायें आहत हों। रक्षाबंधन पर बसों के प्रबंधन के साथ ही रूट व्यवस्था दुरूस्त रखी जाये।
जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह ने कहा की सभी लोग साम्प्रदायिक सौहार्द को बनाये रखते हुये अपने अपने रीत-रिवाज के साथ कानून के दायरे में रह कर त्योहारों को अच्छे से मनायें। अलीगढ़ क्षेत्र हमेशा से आपसी भाईचारा व गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल रहा है। सभी धर्म शांति का संदेश देते हैं। अगर कहीं पर कोई समस्या या विवाद है तो उसकी सूचना पुलिस को दें। समय रहते ही समस्या का उचित निस्तारण किया जाएगा। ऐसा कोई कार्य न करें जिससे कि एक दूसरे की धार्मिक भावनाएं आहत हों। ताजिया परंपरागत मार्गों पर से ही निकाले जाएं। ताजिया की ऊंचाई मानक के अनुरूप रहे। अनावश्यक रूप से कोई नई परंपरा ना डालें। शहर की शांति एवं कानून व्यवस्था में खलल डालने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई संज्ञान में लाई जाएगी। जिला मजिस्ट्रेट ने नगर निगम, नगर पालिका, नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारियों को साफ सफाई व्यवस्था एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित रखने के निर्देश दिए। जलूस के दौरान किसी प्रकार का अवरोध उत्पन्न न हो, विद्युत विभाग तारों को ताजियों की ऊॅचाई के हिसाब से दुरूस्त कर लें।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने कहा कि धर्म की आड़ में अराजकता को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। कानून व्यवस्था से खिलवाड करने की किसी को इजाजत नहीं होगी। मोहर्रम के जूलुस में किसी भी प्रकार के अस्त्र शस्त्र का प्रदर्शन नहीं किया जाएगा। लोग किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न दें। झूठी अफवाह फैलाने वाले शरारती तत्वों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। सोशल मीडिया पर निरंतर पैनी निगाह रखी जा रही है। यदि कोई व्यक्ति भ्रामक पोस्ट भेजता है या फारवर्ड करता है तो उसके विरुद्ध विधिक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया अफवाह फैलाने का खतरनाक हथियार है, इसको सोच-समझ कर प्रयोग करें, बेहतर होगा कि इससे जरूरी कार्य ही करें। पुलिस विभाग के पास ऐसे आधुनिक तकनीक है जिससे भ्रामक एवं फर्जी खबरों का आदान प्रदान करने वाले को आसानी से पकडा जा सकता है। एसएसपी ने सभी सीओ एवं थानाध्यक्षों को निर्देशित किया कि वह क्षेत्रीय लोगों, ताजियादारों, मजलिस के आयोजकों से संवाद बनाये रखेें। रक्षाबंधन को ध्यान में रखते हुये बाजारों में उचित सुरक्षा के इंतजामात किये जाएं।
महापौर मोहम्मद फुरकान ने अपने संबोधन में ईद-उल-अज्हा पर पुलिस प्रशासन एवं निगम द्वारा की गई व्यवस्थाओं की मुक्तकंठ से सराहना करते हुये कहा कि जिस शहर में इतने अच्छे प्रशासनिक अधिकारी हों, व्यवस्थाएं तो स्वतः ही दुरूस्त हो जातीं हैं। उन्होंने कहा कि साफ-सफाई, प्रकाश व्यवस्था के लिये नगर निगम द्वारा टीमों को लगाया गया है। सरकार के द्वारा जो आदेश मिलते हैं उनका पालन करें। कानून व्यवस्था को बनाए रखने की हम सभी की जिम्मेदारी है, इसे बखूबी निभाऐं। सब्र से काम लें, सौंपे गये दायित्वों को अच्छे से पूरा करें। इस अवसर पर एडीएम सिटी, एसपी सिटी, समस्त एसडीएम, अधिशासी अधिकारी, पार्षदगण समेत विभिन्न समुदायों के नागरिकगण उपस्थित रहे।

Back to top button