रक्षाबंधन मेले की नहीं मिली परमिशन, नगर पंचायत में हुई बैठक

भास्कर समाचार सेवा
मेरठ/लावड़। 100 साल से लगने वाला परंपरागत रक्षाबंधन मेले की परमिशन न मिलने पर नगर पंचायत में सभासदो और गणमान्य लोगों के साथ चेयरमैन पति हारून ने बैठक की। बैठक में भाग लेने वाले लोगों ने एक राय होकर मेला लगवाने की हुंकार भरी।

बैठक में सभी लोगों ने अपने विचार व्यक्त करते हुए अपने सुझाव दिए। इस दौरान चेयरमैन पति ने कहा, एक दो व्यापारी विरोध कर रहे हैं। अगर उन्हें आपत्ति है तो वो कही ओर चले जाए। एतिहासिक मेला हिन्दू-मुस्लिम भाईचारे का प्रतीक है। हम लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं होने देंगे।

नगर पंचायत द्वारा तकरीबन 100 वर्षो से कस्बा लावड़-मसूरी मार्ग पर रक्षा बंधन के अवसर पर मेले का आयोजन कराया जाता है। जिसका कस्बे के कुछ व्यापारी पहले से ही विरोध करते रहे हैं, लेकिन आमजन की राय पर मेले पर पूर्व की भांति आयोजन होता है। बैठक में इस वर्ष व्यापार संघ अध्यक्ष पर विरोध करने और शासन से आपत्ति जताने के आरोप लगे। जिसके चलते प्रशासन ने सड़क पर मेले का आयोजन नहीं होने के आदेश का हवाले देते हुए नगर पंचायत की मेला परमिशन रद कर दी। मामले की जानकारी होने पर लोगों में रोष व्याप्त हो गया। जिसको लेकर चेयरमैन पति हारून ने सभासदों, पूर्व सभासदों, गणमान्य लोगों, पूर्व चेयरमैन और चेयरमैन प्रत्याशियों संग नगर पंचायत सभागार में बैठक आयोजित की। सभी को मेले के लिए स्वकृति नहीं होने और आपत्ति की जानकारी देते हुए सुझाव मांगते हुए मेले के लिए ओर कोई जगह नहीं होने की जानकारी दी। जिस पर सभी ने एक राय होते हुए  वर्षों से लगने वाली जगह पर ही मेला लगवाने की मांग की। जिसको लेकर बैठक में सभी ने एक राय होकर जिलाधिकारी और क्षेत्रीय विधायक, सांसद से मिलकर स्थिति से अवगत कराने की बात कही है।

Back to top button